Home   »   तुषार मेहता की भारत के सॉलिसिटर...

तुषार मेहता की भारत के सॉलिसिटर जनरल के रूप में पुनः नियुक्ति

तुषार मेहता की भारत के सॉलिसिटर जनरल के रूप में पुनः नियुक्ति |_30.1

भारत के मौजूदा सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता को कैबिनेट की नियुक्ति समिति (एसीसी) द्वारा तीन साल के कार्यकाल के लिए फिर से नियुक्त किया गया है। मेहता और छह अन्य विधि अधिकारियों की पुनर्नियुक्ति की घोषणा उच्चतम न्यायालय में उनका पिछला कार्यकाल समाप्त होने के बाद की गई थी। एसीसी का निर्णय देश के सामने आने वाले व्यापक कानूनी मामलों को संभालने के लिए उनकी क्षमताओं में सरकार के विश्वास को दर्शाता है।

तुषार मेहता के अलावा, छह अन्य विधि अधिकारियों को सुप्रीम कोर्ट में अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) के रूप में विस्तार दिया गया है, हालांकि उनके कार्यकाल की अवधि अभी तक जारी नहीं की गई है। इन एएसजी में विक्रमजीत बनर्जी, केएम नटराज, बलबीर सिंह, सूर्यप्रकाश वी राजू, एन वेंकटरमन और ऐश्वर्या भाटी शामिल हैं। उनकी शर्तों का विस्तार करने का एसीसी का निर्णय जटिल कानूनी मामलों में सरकार के हितों की रक्षा के लिए उनकी विशेषज्ञता और योगदान के महत्व को रेखांकित करता है।

अटॉर्नी जनरल के बाद देश के सर्वोच्च कानून अधिकारी के रूप में, सॉलिसिटर जनरल विभिन्न कानूनी मामलों में सरकार के हितों का प्रतिनिधित्व करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। तुषार मेहता अक्टूबर 2018 से सॉलिसिटर जनरल के रूप में कार्य कर रहे हैं, और उनकी पुनर्नियुक्ति उनके कार्यकाल के दौरान उनके प्रदर्शन के साथ सरकार की संतुष्टि को दर्शाती है। सॉलिसिटर जनरल का कार्यालय देश भर में केंद्र सरकार के मुकदमेबाजी के एक महत्वपूर्ण हिस्से को संभालता है, जिससे यह कानूनी प्रणाली में एक महत्वपूर्ण स्थिति बन जाता है।

प्रतियोगी परीक्षाओं की मुख्य तथ्य

  • कैबिनेट की नियुक्ति समिति (एसीसी) का गठन 26 जनवरी, 1950 को किया गया था।
  • एसीसी के केंद्रीय मंत्री अमित शाह हैं।
  • नरेंद्र मोदी एसीसी के अध्यक्ष हैं।
  • सॉलिसिटर जनरल देश का दूसरा सबसे बड़ा कानून अधिकारी है।
  • आर वेंकटरमणी भारत के वर्तमान अटॉर्नी जनरल हैं।

Find More Appointments Here

 

तुषार मेहता की भारत के सॉलिसिटर जनरल के रूप में पुनः नियुक्ति |_40.1

FAQs

एसीसी के अध्यक्ष कौन हैं?

नरेंद्र मोदी एसीसी के अध्यक्ष हैं।