Home   »   डॉ बीआर अंबेडकर को सम्मानित करने...

डॉ बीआर अंबेडकर को सम्मानित करने के लिए भारतीय-अमेरिकी कांग्रेसी ने पेश किया प्रस्ताव

डॉ बीआर अंबेडकर को सम्मानित करने के लिए भारतीय-अमेरिकी कांग्रेसी ने पेश किया प्रस्ताव_3.1

भारत में देश-भर 14 अप्रैल को डॉ बीआर अंबेडकर की 130 वीं जयंती मनाई गई। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा (House of Representatives) में, एक भारतीय-अमेरिकी कांग्रेसी ने अंबेडकर जी की 130 वीं जयंती को चिन्हित करने के लिए भारतीय संविधान के निर्माता भीमराव अंबेडकर को सम्मानित करने के लिए लगातार दूसरे वर्ष एक प्रस्ताव पेश किया गया।

प्रस्ताव के बारे में

भारतीय-अमेरिकी डेमोक्रेटिक कांग्रेसी रो खन्ना ने कहा, “आज, मैं बी आर अंबेडकर को सम्मानित करने के अपने प्रस्ताव को पुनः पेश कर रहा हूं, इस उम्मीद में कि दुनिया भर के युवा नेता उनके काम को पढ़ेंगे और समानता के लिए उनकी दृष्टि से प्रेरित होंगे।”

इस प्रस्ताव में अमेरिका की भेदभावपूर्ण प्रथाओं, विशेष रूप से संयुक्त राज्य में अफ्रीकी-अमेरिकियों और महिलाओं के व्यवस्थित भेदभाव के गहन प्रभाव को शामिल किया गया है, क्योंकि भारतीय संविधान हर इंसान के लिए समान अधिकारों की गारंटी देने के लिए प्रभावशाली है।

यह प्रस्ताव सभी रूपों में अस्पृश्यता और जातिगत भेदभाव के निषेध की पुष्टि करता है, जैसा कि मानव अधिकारों की सार्वभौमिक घोषणा में सिद्धांतों में निहित है। प्रस्ताव में कहा गया है कि अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, नागरिक अधिकार, धार्मिक सद्भाव और न्यायशास्त्र में डॉ. अंबेडकर के योगदान ने लोकतांत्रिक मूल्यों को बढ़ावा दिया, विषमता समानता, और सभी जातियों, नस्ल, लिंग, धर्मों के लोगों के लिए न्याय, और पृष्ठभूमि में दुनिया भर में गहरा प्रभाव डाला है।

साथ ही यह भी कहा गया है कि डॉ अंबेडकर ने इतिहास के सबसे बड़े नागरिक अधिकार आंदोलनों में से एक का नेतृत्व किया, जिससे सैकड़ों करोड़ों दलितों के लिए बुनियादी अधिकारों को स्थापित करने का काम किया और भारत के संविधान में अनुच्छेद 17 को शामिल करने में सफल रहे, जो अस्पृश्यता और किसी भी रूप में इसके खिलाफ हैं। इसके आलावा एक अर्थशास्त्री के रूप में उनका प्रभाव भारत की वित्तीय प्रणाली, उनके भारतीय वित्त आयोग की स्थापना, और भारतीय रिज़र्व बैंक के निर्माण में उनकी भूमिका के साक्ष्य हैं।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को हुए था, वे जो दलितों नेता (अनुसूचित जातियों से थे जिन्हें पहले अछूत कहा जाता था) और भारत सरकार में कानून मंत्री थे.
  • डॉ. बी. आर. अम्बेडकर अवार्ड्स / सम्मान: बोधिसत्व (1956), भारत रत्न (1990), उनके समय के पहले कोलंबियन अहेड (2004), द ग्रेटेस्ट इंडियन (2012)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *