gdfgerwgt34t24tfdv
Home   »   थेल्स ने भारत में 70 मिमी...

थेल्स ने भारत में 70 मिमी रॉकेट बनाने के लिए अडानी डिफेंस के साथ समझौता किया

अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस ने स्थानीय स्तर पर 70 मिमी रॉकेट बनाने के लिए थेल्स ग्रुप के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। यह रणनीतिक सहयोग भारत सरकार की “मेक इन इंडिया” पहल के अनुरूप है, जिसका उद्देश्य रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता बढ़ाना है।

ग्रुप की कंपनी अदाणी डिफेंस एंड एयरोस्पेस भारतीय वायु सेना (AIF) के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण माने जाने वाले रुद्र (Rudra) और प्रचंड (Prachand) हेलीकॉप्टरों के लिए 70 मिमी रॉकेट (70mm rockets) बनाएगी।

कंपनी ने इसके लिए फ्रांस के थेल्स ग्रुप (Thales group) के साथ एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए। दोनों ग्रुपों के बीच यह पार्टनरशिप मेक इन इंडिया (MakeInIndia) और आत्मनिर्भर भारत (Aatmanirbhar Bharat) पहल के तहत हुई है।

70 मिमी रॉकेट

इस पार्टनरशिप के तहत बनने वाले 70 मिमी रॉकेट का उपयोग भारतीय वायु सेना के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण माने जाने वाले रुद्र और प्रचंड हेलीकॉप्टरों द्वारा किया जाएगा। हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर (LCH) प्रचंड दुनिया का एकमात्र लड़ाकू हेलीकॉप्टर है जो 5,000 मीटर की ऊंचाई पर उतर और उड़ान भर सकता है। इतना ही नहीं प्रचंड भारी मात्रा में हथियार और ईंधन भी ले जा सकता हैं।

रुद्र उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर

रुद्र उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर (ALH) ध्रुव का ज्यादा हथियारों से लैस (more weaponized) वर्जन है। रुद्र टोही मिशनों और सैन्य अवलोकन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसे सैन्य परिवहन, टैंक रोधी युद्ध और नजदीकी हवाई सहायता के लिए भी तैनात किया गया है।

घरेलू स्तर पर रक्षा उत्पादन को मिलेगा बढ़ावा

थेल्स और अदाणी डिफेंस के बीच इस पार्टनरशिप से घरेलू स्तर पर रक्षा उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा। बता दें कि थेल्स एक फ्रांसीसी बहुराष्ट्रीय (MNC) कंपनी है जो एयरोस्पेस, रक्षा, परिवहन और सुरक्षा क्षेत्रों के लिए उपकरण डिजाइन और निर्माण करती है।

FAQs

थेल्स कंपनी क्या करती है?

थेल्स एवियोनिक्स, इन-फ्लाइट एंटरटेनमेंट और कनेक्टिविटी, एयर ट्रैफिक मैनेजमेंट, ट्रेनिंग और सिमुलेशन सिस्टम प्रदान करता है। दुनिया में तीन में से दो विमान थेल्स उपकरणों का उपयोग करके उड़ान भरते और उतरते हैं। थेल्स द्वारा सुसज्जित एयर ट्रैफिक कंट्रोल सेंटर दुनिया के 40% से अधिक हवाई क्षेत्र को कवर करते हैं।