Home   »   टाटा टेक्नोलॉजीज और SBFC फाइनेंस: नए...

टाटा टेक्नोलॉजीज और SBFC फाइनेंस: नए IPO से जुड़े महत्वपूर्ण जानकारी

टाटा टेक्नोलॉजीज और SBFC फाइनेंस: नए IPO से जुड़े महत्वपूर्ण जानकारी |_30.1

पूंजी बाजार नियामक SEBI (भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड) ने टाटा मोटर्स की सहायक कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज के IPO के लिए मंजूरी दे दी है। जुलाई 2004 में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के बाद टाटा समूह की ओर से यह पहला सार्वजनिक निर्गम है। टाटा टेक्नोलॉजीज, एसबीएफसी फाइनेंस और गांधार ऑयल रिफाइनरी BSE और NSE पर अपने शेयरों को सूचीबद्ध करने के लिए तैयार हैं।

टाटा टेक्नोलॉजीज IPO विवरण

1. टाटा टेक्नोलॉजीज ने ऑफर फॉर सेल (OFS) आईपीओ लॉन्च किया

टाटा टेक्नोलॉजीज एक ओएफएस आईपीओ की पेशकश करेगी, जिसमें मौजूदा शेयरधारक 9.57 करोड़ इक्विटी शेयर बेचेंगे, जो कंपनी की चुकता शेयर पूंजी का लगभग 23.60 प्रतिशत है। मूल कंपनी टाटा मोटर्स की योजना 8.11 करोड़ शेयर (20 प्रतिशत) बेचने की है, जबकि अल्फा टीसी होल्डिंग्स पीटीई और टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड आई क्रमश: 97.16 लाख शेयर (2.4 प्रतिशत) और 48.58 लाख शेयर (1.2 प्रतिशत) बेचेगी।

2. आईपीओ आकार और आवंटन

टाटा टेक्नोलॉजीज के आईपीओ के आकार का अभी खुलासा नहीं किया गया है, लेकिन बाजार सूत्रों का अनुमान है कि यह करीब 4,000 करोड़ रुपये का होगा। इस पेशकश में 50 प्रतिशत पात्र संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए, 35 प्रतिशत खुदरा निवेशकों के लिए और शेष 15 प्रतिशत गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए आरक्षित होने की उम्मीद है।

SBFC फाइनेंस IPO विवरण

1. एसबीएफसी फाइनेंस की 1,200 करोड़ रुपये के आईपीओ की योजना

मुंबई की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी एसबीएफसी फाइनेंस का आईपीओ के जरिए 1,200 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है। इस पेशकश में 750 करोड़ रुपये के नए शेयर और 450 करोड़ रुपये का ओएफएस जारी किया जाएगा। ओएफएस के हिस्से में अर्पवुड पार्टनर्स इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स एलएलपी, अर्पवुड कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड, 845 सर्विसेज एलएलपी और एसबीएफसी होल्डिंग्स पीटीई का योगदान शामिल है। लिमिटेड।

2. आईपीओ आय का आवंटन और उपयोग

शुद्ध पेशकश का लगभग 50 प्रतिशत क्यूआईबी को, 15 प्रतिशत गैर-संस्थागत निवेशकों (एनआईआई) को और 35 प्रतिशत खुदरा निवेशकों को आवंटित किया जाएगा। नए शेयर जारी कर जुटाई गई 750 करोड़ रुपये की राशि का इस्तेमाल एसबीएफसी फाइनेंस के पूंजी आधार को मजबूत करने में किया जाएगा। कंपनी मुख्य रूप से उद्यमियों, छोटे व्यवसाय के मालिकों, स्व-नियोजित व्यक्तियों और वेतनभोगी व्यक्तियों की सेवा करती है।

गंधार ऑयल रिफाइनरी आईपीओ विवरण

1. गंधार ऑयल रिफाइनरी के आईपीओ में फ्रेश इश्यू और ओएफएस शामिल हैं

गंधार ऑयल रिफाइनरी की प्रारंभिक शेयर बिक्री में 357 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे और प्रवर्तकों और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 1.2 करोड़ शेयरों का ओएफएस शामिल होगा। बाजार सूत्रों के अनुसार ओएफएस से 500 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद है। ताजा निर्गम से प्राप्त राशि का उपयोग कर्ज चुकाने, उपकरण खरीदने और कंपनी के सिलवासा संयंत्र में क्षमता विस्तार के लिए आवश्यक सिविल कार्य करने के लिए किया जाएगा।

2. निधियों का उपयोग और आईपीओ संरचना

इसके अतिरिक्त, धन का उपयोग गांधार के तलोजा संयंत्र में पेट्रोलियम जेली और कॉस्मेटिक उत्पाद प्रभाग की क्षमता का विस्तार करने के लिए किया जाएगा। सफेद तेल क्षमता के विस्तार में कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के वित्तपोषण के साथ-साथ सम्मिश्रण टैंक स्थापित करना शामिल होगा।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

Find More Business News Here

टाटा टेक्नोलॉजीज और SBFC फाइनेंस: नए IPO से जुड़े महत्वपूर्ण जानकारी |_40.1

FAQs

मुंबई की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी एसबीएफसी फाइनेंस का आईपीओ के जरिए कितने करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है?

मुंबई की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी एसबीएफसी फाइनेंस का आईपीओ के जरिए 1,200 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है।