Home   »   एसएंडपी ग्लोबल ने भारत के वित्त...

एसएंडपी ग्लोबल ने भारत के वित्त वर्ष 2024 के विकास अनुमान को बढ़ाकर 6.6% कर दिया

एसएंडपी ग्लोबल ने भारत के वित्त वर्ष 2024 के विकास अनुमान को बढ़ाकर 6.6% कर दिया_3.1

एसएंडपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस ने वित्तीय वर्ष 2024 (FY24) के लिए भारत की आर्थिक विकास संभावनाओं का पुनर्मूल्यांकन किया है। इस बढ़ोतरी का श्रेय अप्रैल-जून तिमाही में मजबूत आर्थिक प्रदर्शन को दिया जाता है। विशेष रूप से, संशोधित अनुमान 6.6% है, जो अगस्त में एनालिटिक्स फर्म द्वारा लगाए गए 5.9% अनुमान से एक महत्वपूर्ण सुधार है।

 

महंगाई बढ़ रही है

जबकि संशोधित विकास पूर्वानुमान आशाजनक है, एसएंडपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस मुद्रास्फीति के संबंध में एक चिंताजनक भविष्यवाणी भी प्रस्तुत करता है। एनालिटिक्स फर्म को मुद्रास्फीति में तेज वृद्धि का अनुमान है, 2023 में दर बढ़कर 6% हो जाएगी। यह अनुमान अगस्त में अनुमानित 5.1% मुद्रास्फीति दर से उल्लेखनीय वृद्धि का संकेत देता है। विशेष रूप से ध्यान दें, मुद्रास्फीति का यह स्तर भारतीय रिज़र्व बैंक की लक्ष्य सीमा की ऊपरी सीमा के करीब पहुंच रहा है।

 

आरबीआई के आउटलुक से मतभेद

एसएंडपी ग्लोबल का दृष्टिकोण भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से भिन्न है। जबकि दोनों संस्थाओं का भारतीय अर्थव्यवस्था पर अपना दृष्टिकोण है, एसएंडपी ग्लोबल आर्थिक विकास के संबंध में अधिक आशावादी रुख रखता है। इसके विपरीत, जब मुद्रास्फीति की बात आती है तो वे अधिक निराशावादी दृष्टिकोण बनाए रखते हैं।

 

निर्यात पर प्रभाव

इसके अलावा, एसएंडपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस एक अतिरिक्त कारक की ओर इशारा करता है जो भारत के आर्थिक परिदृश्य को प्रभावित कर सकता है। उनका अनुमान है कि वैश्विक आर्थिक वृद्धि में गिरावट से भारत के निर्यात पर दबाव पड़ेगा। यह अंतर्दृष्टि वैश्विक अर्थव्यवस्था के अंतर्संबंध और भारत की आर्थिक संभावनाओं पर इसके प्रभाव को रेखांकित करती है।

 

Find More News on Economy Here

एसएंडपी ग्लोबल ने भारत के वित्त वर्ष 2024 के विकास अनुमान को बढ़ाकर 6.6% कर दिया_4.1

FAQs

एस एंड पी ग्लोबल किस लिए प्रसिद्ध है?

एसएंडपी ग्लोबल वैश्विक पूंजी, कमोडिटी और ऑटोमोटिव बाजारों में क्रेडिट रेटिंग, बेंचमार्क, एनालिटिक्स और वर्कफ़्लो समाधान का दुनिया का अग्रणी प्रदाता है।