Home   »   सेबी ने क्लियरिंग कॉरपोरेशन की समीक्षा...

सेबी ने क्लियरिंग कॉरपोरेशन की समीक्षा हेतु समिति गठित की

सेबी ने क्लियरिंग कॉरपोरेशन की समीक्षा हेतु समिति गठित की_3.1

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने समाशोधन निगमों के स्वामित्व और आर्थिक संरचना की समीक्षा के लिए एक समिति का गठन किया है। इस पहल का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि समाशोधन निगम को मजबूत, स्वतंत्र और तटस्थ जोखिम प्रबंधकों के रूप में कार्य करें।

स्वामित्व संरचना की समीक्षा

समिति क्लियरिंग कॉरपोरेशन में पात्र निवेशकों के पूल का विस्तार करने की व्यवहार्यता का मूल्यांकन करेगी और हितधारकों की श्रेणियों का सुझाव देगी जिन्हें हिस्सेदारी रखने की अनुमति है। यह इन कॉरपोरेशन के भीतर विभिन्न संस्थाओं द्वारा शेयरधारिता पर कैप को समायोजित करने पर भी विचार करेगी।

समिति की अध्यक्ष

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की पूर्व डिप्टी गवर्नर उषा थोराट तदर्थ समिति की अध्यक्ष होंगी। यह निर्णय हाल के वर्षों में भारतीय प्रतिभूति बाजारों में उल्लेखनीय वृद्धि और केंद्रीय जोखिम प्रबंधन संस्थानों के रूप में समाशोधन निगम के महत्व को देखते हुए लिया गया है।

निवेशकों की सूची का विस्तार

सेबी ने कहा कि समिति को स्वामित्व संरचना के साथ-साथ समाशोधन निगमों के वित्त की समीक्षा करने का काम सौंपा गया है। समिति स्वामित्व संरचना के संबंध में व्यवहार्यता की जांच करेगी। साथ ही पात्र निवेशकों की सूची का विस्तार करेगी, जिन्हें एक समाशोधन निगम में हिस्सेदारी लेने की अनुमति है। इसके साथ उन निवेशकों की श्रेणियों का सुझाव देगी जो ऐसे निगमों में हिस्सेदारी हासिल कर सकते हैं।

इसके अलावा, समिति समाशोधन निगम में विभिन्न इकाइयों की शेयरधारिता की सीमा को बदलने की जरूरत की भी जांच करेगी। अंत में, समिति क्लियरिंग कॉरपोरेशनों को बाजार में उतार-चढ़ाव का सामना करने में सक्षम व्यवहार्य संस्थाओं के रूप में बनाए रखने के लिए रणनीति बनाएगी।

FAQs

सेबी का मुख्यालय कहां स्थित है?

सेबी का मुख्यालय मुंबई में स्थित है तथा क्षेत्रीय कार्यालय अहमदाबाद, कोलकाता, चेन्नई और दिल्ली में हैं।

TOPICS: