Home   »   रिलायंस चेन्नई के पास भारत के...

रिलायंस चेन्नई के पास भारत के पहले मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण करेगी शुरू

रिलायंस चेन्नई के पास भारत के पहले मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण करेगी शुरू_3.1

रिलायंस इंडस्ट्रीज जून में चेन्नई के पास माप्पेडु में भारत के पहले मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण शुरू करने जा रही है, जिसकी परिकल्पना 12 साल पहले की गई थी। तिरुवल्लूर जिले में 184.27 एकड़ में फैली 1,424 करोड़ रुपये की लागत वाली यह परियोजना अब कार्य के लिए तैयार है, जिसमें दक्षिणी क्षेत्र के लॉजिस्टिक्स परिदृश्य में क्रांतिकारी बदलाव लाने की क्षमता है।

परियोजना अवलोकन

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 2022 में मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के लिए बोली हासिल की, जो अडानी समूह से आगे निकल गया। पार्क का उद्देश्य कार्गो एकत्रीकरण, वितरण, इंटरमॉडल ट्रांसफर, सॉर्टिंग और रीपैकिंग सहित कुशल, लागत प्रभावी लॉजिस्टिक्स सेवाएं प्रदान करना है। शुरुआती देरी कनेक्टिविटी मुद्दों और निजी क्षेत्र की खराब प्रतिक्रिया के कारण हुई थी।

रणनीतिक स्थान

यह पार्क चेन्नई बंदरगाह से 52 किमी, एन्नोर बंदरगाह से 80 किमी और कट्टुपल्ली बंदरगाह से 87 किमी की दूरी पर स्थित है, जो दक्षिण भारत में एक केंद्रीय रसद केंद्र बनने के लिए तैयार है। अनुमान है कि यह 45 वर्षों में लगभग 7.17 मिलियन टन कार्गो को संभालेगा, जो रानीपेट, अम्बुर, तिरुपुर और बेंगलुरु में द्वितीयक बाजार समूहों की सेवा करेगा।

कनेक्टिविटी और औद्योगिक प्रभाव

इस परियोजना की सफलता की कुंजी मप्पेदु से बंदरगाहों तक रेल संपर्क सुनिश्चित करना है। यह श्रीपेरंबदूर-ओरागदम औद्योगिक क्षेत्र और चेन्नई पेरिफेरल रिंग रोड के पास स्थित है, जो महत्वपूर्ण ऑटोमोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्लस्टर के करीब है।

सरकारी और विकासात्मक सहायता

अक्टूबर 2021 में तमिलनाडु औद्योगिक विकास निगम, राष्ट्रीय राजमार्ग रसद प्रबंधन लिमिटेड और चेन्नई पोर्ट ट्रस्ट के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 मई, 2022 को परियोजना की आधारशिला रखी, जिसमें परियोजना के राष्ट्रीय महत्व पर प्रकाश डाला गया।

रिलायंस चेन्नई के पास भारत के पहले मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण करेगी शुरू_4.1

FAQs

राष्ट्रीय राजमार्ग की स्थापना कब हुई थी?

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) का गठन 1988 में संसद के एक अधिनियम द्वारा सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत किया गया था।

TOPICS: