Home   »   रिलायंस कैपिटल अधिग्रहण: हिंदुजा समूह के...

रिलायंस कैपिटल अधिग्रहण: हिंदुजा समूह के IIHL को IRDAI की मंजूरी मिली

रिलायंस कैपिटल अधिग्रहण: हिंदुजा समूह के IIHL को IRDAI की मंजूरी मिली |_3.1

इंश्योरेंस सेक्टर रेगुलेटर इरडा (IRDAI) ने कर्ज में डूबी रिलायंस कैपिटल के अधिग्रहण के लिए हिंदुजा ग्रुप को मुजूरी दे दी है। हिंदुजा ग्रुप की इंडसइंड इंटरनेशनल होल्डिंग्स लिमिटेड (IIHL) रिलायंस कैपिटल का अधिग्रहण करेगी। इस डील को 27 मई 2024 तक पूरा करना होगा।

पिछले साल जुलाई में IIHL ने अनिल अंबानी की रिलायंस कैपिटल के अधिग्रहण के लिए ₹9,861 करोड़ की बोली लगाई थी, जिसे बाद में एडमिनिस्ट्रेटर ने मंजूरी दे दी थी। बोली को क्रेडिटर्स (लेनदारों) से भी सपोर्ट मिला था, जिसमें 99% वोट बोली के पक्ष में किए गए थे।

 

RBI ने नवंबर 2021 में रिलायंस कैपिटल के बोर्ड को भंग किया था

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने नवंबर 2021 में रिलायंस कैपिटल में पेमेंट डिफॉल्ट और सीरियस गवर्नेंस इश्यू को देखते हुए बोर्ड को भंग करके बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को हटा दिया था। नवंबर 2019 में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने कर्ज में डूबे फाइनेंसर के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने के लिए एक आवेदन की अनुमति दी थी।

 

रिलायंस कैपिटल क्या करती थी?

रिलायंस कैपिटल, कस्टमर्स को फाइनेंस से जुड़ी करीब 20 सर्विसेस देती थी। कंपनी लाइफ इंश्योरेंस, जनरल इंश्योरेंस और हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी सर्विसेज उपलब्ध कराती थी। इसके साथ ही कंपनी होम लोन, कमर्शियल लोन, इक्विटी और कमोडिटी ब्रोकिंग जैसे सेक्टर में भी सर्विस देती थी।

 

फाइनेंशियल रिजल्ट जारी नहीं

रिलायंस कैपिटल ने दिसंबर 2018 के बाद अपना फाइनेंशियल रिजल्ट जारी नहीं किया है। दिसंबर 2018 में इसका रेवेन्यू 568 करोड़ रुपए था जबकि शुद्ध फायदा 89 करोड़ रुपए था। इसमें प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 1.51% थी। जनता के पास 97.85% हिस्सेदारी थी।

प्रमोटर्स में अनिल अंबानी के पास 11.06 लाख शेयर्स, टीना अंबानी के पास 2.63 लाख शेयर्स, जय अनमोल अंबानी के पास 1.78 लाख शेयर्स और जय अंशुल के पास 1.78 लाख शेयर्स थे। कोकिलाबेन अंबानी के पास 5.45 लाख शेयर्स थे। अनिल अंबानी के दो बेटे जय अनमोल और जय अंशुल हैं।

FAQs

रिलायंस कैपिटल क्या करती थी?

रिलायंस कैपिटल, कस्टमर्स को फाइनेंस से जुड़ी करीब 20 सर्विसेस देती थी। कंपनी लाइफ इंश्योरेंस, जनरल इंश्योरेंस और हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी सर्विसेज उपलब्ध कराती थी। इसके साथ ही कंपनी होम लोन, कमर्शियल लोन, इक्विटी और कमोडिटी ब्रोकिंग जैसे सेक्टर में भी सर्विस देती थी।

TOPICS: