Home   »   रिलायंस रिटेल ने श्रीलंकाई बिस्किट निर्माता...

रिलायंस रिटेल ने श्रीलंकाई बिस्किट निर्माता मालिबान के साथ समझौता किया

रिलायंस रिटेल ने श्रीलंकाई बिस्किट निर्माता मालिबान के साथ समझौता किया |_30.1

रिलायंस रिटेल ने श्रीलंका के मालिबान बिस्किट कंपनी के साथ एक समझौता कर लिया है। जिसके बाद रिलायंस रिटेल में आपको मालिबान बिस्कुट (Maliban Biscuit) मिल सकेगा। रिलायंस कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (Reliance Consumer Products Limited), एफएमसीजी शाखा और रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (Reliance Retail Ventures Limited) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी ने श्रीलंका (Sri Lanka) की मालिबान बिस्किट मैन्युफैक्चररीज प्राइवेट लिमिटेड (Maliban Biscuit Manufactories) कंपनी के साथ समझौता किया गया है। इस डील के बाद बिस्किट सेक्टर में रिलायंस ने एंट्री कर ली है. इसके बाद रिलायंस रिटेल देश में ब्रिटानिया (Britannia) और पारले प्रोडक्ट्स (Parle) के प्रोडक्ट्स के बीच सीधे तौर पर प्रतिस्पर्धा देखने को मिलेगी।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

रिलायंस रिटेल वेंचर्स की कार्यकारी निदेशक ईशा अंबानी ने कहा कि, मालिबान ने मजबूत बाजार हैसियत के साथ अपनी खास साख बनाई है। आरसीपीएल (RCPL) और मालिबान के बीच इस भागीदारी से हम सिर्फ एक मजबूत ब्रांड के साथ अपना एफएमसीजी पोर्टफोलियो मजबूत करने जा रहे है। मालिबान की समूह प्रबंध निदेशक कुमुदिका फर्नांडो का कहना है कि, सब हमारे दो संगठनों की ताकत हमें भारतीय उपभोक्ताओं को मालिबान के खास स्वाद का अनुभव मुहैया कराने में सक्षम बनाएगी। हम रिलायंस कंज्यूमर के साथ भागीदारी के जरिये भारत को विश्वस्तरीय उत्पाद मुहैया करा सकेंगे।

 

बिस्किट कंपनी को 70 साल का अनुभव

 

श्रीलंका में सबसे चर्चित मालिबान बिस्किट कंपनी को 70 साल का लंबा अनुभव है। ये एक ऐसी बिस्कुट निर्माता कंपनी है, जो अपने बिस्कुट, क्रैकर, कूकीज और वेफर्स सहित कई प्रोडक्ट का निर्माण करती है। इंटरनेशनल मार्केट में इसकी काफी डिमांड है. कंपनी इस समय अपना कारोबार दुनिया के 5 महाद्वीपों के 35 देशों में करती है।

Find More News Related to Agreements

रिलायंस रिटेल ने श्रीलंकाई बिस्किट निर्माता मालिबान के साथ समझौता किया |_40.1

FAQs

रिलायंस की शुरुआत कैसे हुई?

Reliance Commercial Corporation की स्थापना धीरूभाई अंबानी ने 1966 में एक पॉलिएस्टर फर्म के रूप में की थी। 8 मई 1973 को इसका नाम बदलकर रिलायंस इंडस्ट्रीज कर दिया गया। रिलायंस ने बाद में वित्तीय सेवाओं, पेट्रोलियम रिफाइनिंग, बिजली क्षेत्र में प्रवेश किया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *