Home   »   विश्वनाथन आनंद को पछाड़कर प्रग्गनानंद बने...

विश्वनाथन आनंद को पछाड़कर प्रग्गनानंद बने भारत के नंबर 1 शतरंज खिलाड़ी

विश्वनाथन आनंद को पछाड़कर प्रग्गनानंद बने भारत के नंबर 1 शतरंज खिलाड़ी_3.1

चेन्नई के 18 वर्षीय शतरंज खिलाड़ी रमेशबाबू प्रगनानंद ने चीन के विश्व चैंपियन डिंग लिरेन को हराकर अपने करियर में एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की। यह महत्वपूर्ण जीत विज्क आन ज़ी में आयोजित 2024 टाटा स्टील शतरंज टूर्नामेंट के चौथे दौर के दौरान हुई। प्रग्गनानंद की जीत उल्लेखनीय थी क्योंकि उन्होंने काले मोहरों से खेला और खेल की शुरुआत से ही रणनीतिक श्रेष्ठता प्रदर्शित की।

 

विश्वनाथन आनंद से आगे निकल गए

डिंग लिरेन के खिलाफ जीत ने न केवल प्रगनानंद के लिए एक व्यक्तिगत जीत दर्ज की, बल्कि उन्हें शीर्ष रेटेड भारतीय खिलाड़ी के रूप में महान विश्वनाथन आनंद से आगे निकलने में भी मदद की। 2748.3 की FIDE लाइव रेटिंग के साथ, प्रग्गानानंद ने आनंद की 2748 रेटिंग को थोड़ा पीछे छोड़ दिया। यह उपलब्धि प्रग्गनानंद को शास्त्रीय शतरंज में मौजूदा विश्व चैंपियन को हराने वाले आनंद के बाद दूसरे भारतीय के रूप में स्थापित करती है। उन्होंने इससे पहले 2023 में टाटा स्टील टूर्नामेंट में भी डिंग लिरेन को हराया था।

 

टाटा स्टील शतरंज टूर्नामेंट अवलोकन

  • अनीश गिरि का प्रदर्शन: अनीश गिरि मास्टर्स ग्रुप में एकमात्र लीडर के रूप में उभरे, जिन्होंने डी गुकेश के खिलाफ असाधारण एंडगेम कौशल का प्रदर्शन किया।
  • अन्य भारतीय खिलाड़ियों की स्थिति: विदित संतोष गुजराती ने जॉर्डन वान फॉरेस्ट के खिलाफ ड्रॉ खेला, जबकि गुकेश को अनीश गिरी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। टूर्नामेंट स्टैंडिंग में, प्रगनानंद तीसरे स्थान पर रहे, विदित सातवें और गुकेश दसवें स्थान पर रहे।
  • भविष्य के मैच: पांचवें दौर में प्रगनानंद का सामना अनीश गिरी से होगा, जबकि उनके हमवतन, गुकेश और गुजराती, क्रमशः इयान नेपोमनियाचची और मैक्स वार्मरडैम से भिड़ेंगे।

 

खेल पर प्रग्गनानंद के विचार

खेल को “अजीब” और आश्चर्यजनक रूप से सहज बताते हुए, प्रगनानंद ने महसूस किया कि उन्होंने आसानी से बराबरी हासिल कर ली और पूरे समय नियंत्रण बनाए रखा। उन्होंने अपने प्रदर्शन पर संतुष्टि व्यक्त की लेकिन आगे की चुनौतियों के प्रति सचेत रहे और पूरे टूर्नामेंट में उच्च ऊर्जा बनाए रखने के महत्व पर जोर दिया।

 

 

 

 

FAQs

शतरंज के बोर्ड में कितने खाने होते हैं?

शतरंज 64 खानों के पट या शतरंजी पर खेला जाता है, जो रैंक (दर्जा) कहलाने वाली आठ अनुलंब पंक्तियों व फाइल (कतार) कहलाने वाली आठ आड़ी पंक्तियों में व्यवस्थित होता है।