Home   »   बंगाली नववर्ष (पोइला बोइशाख) 2021: 15...

बंगाली नववर्ष (पोइला बोइशाख) 2021: 15 अप्रैल 2021

बंगाली नववर्ष (पोइला बोइशाख) 2021: 15 अप्रैल 2021 |_30.1

दुनिया भर में, बंगाली समुदाय द्वारा 15 अप्रैल को पोइला बोइशाख यानि बंगाली नव वर्ष  मनाया गया। यह बंगाली समुदाय के लिए नए साल का प्रतीक है, जो आमतौर पर हर साल 14 अप्रैल या 15 अप्रैल के आसपास पड़ता है। इस वर्ष यह भारत में 15 अप्रैल को मनाया गया।

महोत्सव और फेस्टिवल के बारे में

  • आज के दिन को घरों के बाहर सुंदर रंगोली या अल्पना के साथ घरों की सफाई और सजावट करके मनाया जाता है।
  • कुछ लोग मंदिरों में जाते हैं और आने वाले वर्ष में खुशहाली के लिए प्रार्थना करते हैं।
  • ये दिन बंगाली व्यापारी वर्ग के लिए वित्तीय वर्ष की शुरुआत का दिन भी है।
  • इस दिन, दुकानदार ग्राहकों को आमंत्रित करते हैं और मिठाई और कैलेंडर भी वितरित करते हैं।
  • इस त्यौहार के जश्न की जड़ें मुगल शासन और अकबर के कर संग्रह सुधारों की घोषणा स्व जुड़ी हैं।
  • आज के दिन बांग्लादेश में महत्वपूर्ण कार्यक्रम ढाका विश्वविद्यालय के ललित कला के छात्रों और शिक्षकों द्वारा आयोजित “मंगल शोभायात्रा” है। 2016 में उत्सव को संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) द्वारा मानवता की सांस्कृतिक विरासत के रूप में घोषित किया गया था।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • बंगाली में, पहेला शब्द का अर्थ है ‘पहला’ और बोइशाख बंगाली कैलेंडर का पहला महीना है। बंगाल में बंगाली नव वर्ष को नोबो बोर्शो के रूप में जाना जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *