gdfgerwgt34t24tfdv
Home   »   पेटीएम ने लॉन्च किया भारत का...

पेटीएम ने लॉन्च किया भारत का पहला पॉकेट एंड्रॉइड पीओएस डिवाइस

पेटीएम ने लॉन्च किया भारत का पहला पॉकेट एंड्रॉइड पीओएस डिवाइस |_3.1
पेटीएम ने भारत में कांटेक्टलैस और पेमेंट के लिए भारत पहला पॉकेट एंड्रॉइड पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) डिवाइस ‘Paytm All-in-One Portable Android Smart POS’ लॉन्च किया है। यह भारत में लॉन्च किया अपनी तरह का पहला ऐसा एंड्रॉइड-आधारित डिवाइस है, जो देश में वर्तमान में उपलब्ध पोर्टेबल लिनक्स आधारित पीओएस उपकरणों की तुलना में बहुत अधिक शक्तिशाली है। यह बड़ी संख्या में लघु और मध्यम उद्यमों (एसएमई) को डिजिटल बनाने और सशक्त बनाने का एक प्रयास है। कंपनी का लक्ष्य अगले कुछ महीनों के भीतर 2 लाख से अधिक उपकरणों को जारी करना है जो प्रति माह 20 मिलियन से अधिक लेनदेन को सक्षम बनाएगा।

डिवाइस के बारे में
  • इसे GST बिल जेनरेट करने और सभी लेनदेन और उनका निपटान का प्रबंधन करने के लिए ‘पेटीएम फॉर बिजनेस’ ऐप के साथ एकीकृत किया गया है.
  • इसके अलावा, बिजनेस ऐप के लिए पेटीएम व्यापारियों को कई व्यापारिक सेवाओं और वित्तीय समाधानों जैसे कि ऋण, बीमा, और बिजनेस खता को बिक्री सहित अपने सभी लेन-देन के डिजिटल लेज़र जैसे उधार, कैश और कार्ड का प्रबंधन करने के लिए में सक्षम बनाएगा.
  • इसमें ऐप पर एक मॉल शॉप का विकल्प भी है जो पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर एकीकृत उपयोगिता आइटम जैसे साउंडबॉक्स, कैलकुलेटर, पावर बैंक, घड़ी, पेन स्टैंड, और रेडियो की पेशकश करती है।
  • यह पेमेंट फैल न हो इसके लिए 4 जी सिम कार्ड, वाई-फाई और ब्लूटूथ कनेक्टिविटी पर कार्य करेगा.
  • इस डिवाइस का वजन 163 ग्राम, मोटाई 12 मिमी है, और इसमें 4.5 इंच की टच स्क्रीन लगा है। यह एक शक्तिशाली प्रोसेसर, पूरे दिन की बैटरी लाइफ, और क्यूआर कोड को स्कैन करने के लिए एक इनबिल्ट कैमरा और तुरंत भुगतान की प्रक्रिया के साथ आता है.
  • यह बिलिंग, भुगतान और ग्राहक प्रबंधन के लिए क्लाउड-आधारित सॉफ़्टवेयर सहित कई उद्योग-प्रथम सुविधाएँ और सेवाएँ प्रदान करने का दावा करता है.
उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • पेटीएम के संस्थापक: विजय शेखर शर्मा.
  • पेटीएम मुख्यालय: नोएडा, उत्तर प्रदेश.
  • पेटीएम की स्थापना: 2010

TOPICS:

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *