Home   »   यूनेस्को की विरासत सूची में शामिल...

यूनेस्को की विरासत सूची में शामिल हुई थाई नुअद (थाई मसाज)

यूनेस्को की विरासत सूची में शामिल हुई थाई नुअद (थाई मसाज)_3.1
थाईलैंड की 2000 साल से भी अधिक प्राचीन और प्रसिद्ध मालिश (थाई मसाज) थाई नुअद कोयूनेस्को की (संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन) की प्रतिष्ठित विरासत सूची में शामिल किया गया। नुअद थाई मालिश का एक गहन प्रकार है जिसमें शरीर को अंगूठे, कोहनी, घुटनों और पैरों की मदद से अच्छी तरह से शरीर मासपेशियों को खींचा और घुमाया जाता है। थाई मालिश की शुरुआत भारत में हुई और इसे लगभग 2,500 साल पहले डॉक्टरों और भिक्षुओं द्वारा थाईलैंड में ले जाया गया था, जिसके बाद से ये वहां की एक पहचान बन गई।

उपरोक्त समाचार से IBPS SO 2019 परीक्षा  के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • यूनेस्को का गठन: 4 नवंबर 1946
  • यूनेस्को का मुख्यालय: पेरिस, फ्रांस
  • यूनेस्को महानिदेशक: ऑड्रे अज़ोले
स्रोत: द इकोनॉमिक टाइम्स

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *