Home   »   नीति आयोग ने ‘एसडीजी इंडिया इंडेक्‍स’...

नीति आयोग ने ‘एसडीजी इंडिया इंडेक्‍स’ और ‘डैशबोर्ड 2019’ किया लॉन्‍च

नीति आयोग ने 'एसडीजी इंडिया इंडेक्‍स' और 'डैशबोर्ड 2019' किया लॉन्‍च |_50.1
नीति आयोग ने सतत विकास लक्ष्‍य (SDG) इंडिया इंडेक्‍स का दूसरा संस्‍करण लॉन्‍च किया । SDG इंडिया इंडेक्स के अनुसार, भारत का संयोजित स्‍कोर वर्ष 2018 के 57 से बेहतर होकर वर्ष 2019 में 60 के स्‍तर पर पहुंच गया है। सतत विकास लक्ष्यों पर प्रगति की सरकार के नेतृत्व वाली, उप-राष्ट्रीय माप के साथ भारत दुनिया का पहला देश है।
SDG इंडिया इंडेक्स 2019 MoSPI के राष्‍ट्रीय संकेतक फ्रेमवर्क (NIF) से प्राप्‍त 100 संकेतकों के मामले में सभी राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों द्वारा की जा रही प्रगति पर करीब नजर रखता है। एसडीजी इंडिया इंडेक्स को सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्‍वयन मंत्रालय (MoSPI), संयुक्‍त राष्‍ट्र (भारत) और ग्‍लोबल ग्रीन ग्रोथ इंस्‍टीट्यूट के सहयोग से विकसित किया गया है। सूचकांक 018 सूचकांक में से 16 तक फैला है, जो केवल 13 लक्ष्यों को कवर करता है।
प्रत्येक राज्य/केंद्रशासित प्रदेश के समग्र स्कोर की गणना 0-100 की श्रेणी में 16 एसडीजी के समग्र प्रदर्शन के आधार पर की गई है। यह 16 एसडीजी और उनके संबंधित लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में हर राज्य / केंद्र शासित प्रदेश के औसत प्रदर्शन को दर्शाता है। यदि कोई राज्य / केंद्रशासित प्रदेश 100 स्कोर प्राप्त करता है, तो यह दर्शाता है कि उसने 2030 का राष्ट्रीय लक्ष्य हासिल कर लिया हैं।
एसडीजी इंडिया इंडेक्‍स स्‍कोर के आधार पर वर्गीकरण पैमाना कुछ इस तरह से है:
  • आकांक्षी : 0-49.
  • परफॉर्मर : 50-64.
  • फ्रंट रनर : 65-99.
  • अचीवर : 100.
सतत विकास लक्ष्य (SDG) इंडिया इंडेक्‍स के कुछ प्रमुख परिणाम:
  • नीती अयोग ने भारत को 60 अंकों का समग्र स्कोर दिया है, जिसमें सर्वाधिक प्रगति स्‍वच्‍छ जल एवं साफ-सफाई (88) ; शांति, न्याय और सशक्त संस्थान (72); और किफायती एवं स्‍वच्‍छ ऊर्जा (70) में हुई हैं।
  • केरल ने 70 के स्‍कोर के साथ संयोजित एसडीजी इंडेक्‍स में प्रथम रैंक प्राप्‍त किया है, इसके बाद 69 के स्‍कोर के साथ हिमाचल प्रदेश दूसरे स्‍थान पर है।
  • बिहार नीती अयोग के सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) इंडिया इंडेक्स में सबसे नीचे है।
  • वर्ष 2018 से सर्वाधिक सुधार में उत्तर प्रदेश हैं जो 29वें पायदान से ऊपर चढ़कर 23वें पायदान पर पहुंच गया है, ओडिशा 23वें से 15वें और सिक्किम 15वें स्‍थान से 7वें स्‍थान पर पहुंचा गया हैं।
  • ‘आकांक्षी’ श्रेणी (0-49 की रेंज में स्‍कोर)  के तीनों राज्‍य: उत्तर प्रदेश, बिहार एवं असम अब ‘परफॉर्मर’ श्रेणी (50-64 की रेंज में स्‍कोर) में चले गए हैं। 
  • इसी तरह पांच राज्‍य आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, गोवा और सिक्किम ‘परफॉर्मर’ श्रेणी से आगे बढ़कर ‘फ्रंट रनर’ श्रेणी में चले गए हैं
  • सर्वाधिक प्रगति लक्ष्‍य 6 – स्‍वच्‍छ जल एवं साफ-सफाई, लक्ष्‍य 9 – उद्योग, नवाचार एवं अवसंरचना और लक्ष्‍य 7 –  किफायती एवं स्‍वच्‍छ ऊर्जा की प्राप्ति की दिशा में हुई है।

उपरोक्त समाचार से सभी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • नीति आयोग के सीईओ: अमिताभ कांत
स्रोत: प्रेस इन्फोर्मेशन ब्यूरो
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *