Home   »   राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2024: जानिए इतिहास...

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2024: जानिए इतिहास और महत्व

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2024: जानिए इतिहास और महत्व |_30.1

भारतीय संस्कृति और पर्यटन स्थलों को बढ़ावा देने के लिए हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाया जाता है। भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा इस दिन की स्थापना की गई थी। केंद्र इस दिन कई सेमिनार, सांस्कृतिक कार्यक्रम और अन्य कार्यक्रम का आयोजन करता है। कई राज्य भी अपने क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम आयोजित करते हैं। इसके अलावा पर्यटन दिवस के माध्यम से भारत की ऐतिहासिक संस्कृति, प्राकृतिक सुंदरता और संस्कृति को बढ़ावा मिलता है।

 

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस की थीम

हर साल राष्ट्रीय पर्यटन दिवस एक अलग थीम के साथ मनाया जाता है। इस साल इसकी थीम है “स्टेबल जर्नी, टाइमलेस मेमोरी”।

 

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का महत्व

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य भारतीय में मौजूद पर्यटन स्थलों का देश ही नहीं दुनियाभर में प्रचार करना है। इसके जरिए भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलती है। इसके अलावा पर्यटन हर एक देश के लिए रोजगार का बहुत बड़ा साधन होता है, तो इस दिन को मनाने का एक मकसद रोजगार को भी बढ़ावा देना होता है।

 

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का इतिहास

इस दिन को मनाने की शुरुआत साल 1948 से हुई थी। साल 1998 में पर्यटन और संचार मंत्री के नेतृत्व में पर्यटन विभाग की स्थापना हुई। पर्यटन कैसे देश के विकास में सहयोग दे सकता है इस महत्व को समझते हुए सबसे पहले पर्यटन यातायात समिति का गठन किया गया। इसके गठन के लगभग तीन साल बाद यानी 1951 में कोलकाता और चेन्नई में पर्यटन दिवस के क्षेत्रीय कार्यालयों स्थापित किए गए। फिर दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में भी पर्यटन कार्यालयों की स्थापना हुई।

 

 

FAQs

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कब मनाया जाता है?

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस हर साल आठ मार्च को मनाया जाता है।