Home   »   चंद्रमा पर पहला रेलवे सिस्टम बनाए...

चंद्रमा पर पहला रेलवे सिस्टम बनाए जाने की योजना: नासा

चंद्रमा पर पहला रेलवे सिस्टम बनाए जाने की योजना: नासा |_3.1

नासा ने पहली चंद्र रेलवे प्रणाली के निर्माण की अपनी महत्वाकांक्षी योजना का अनावरण किया है, जिसे FLOAT (ट्रैक पर लचीला लेविटेशन) के रूप में जाना जाता है, जिसे चंद्रमा पर पेलोड परिवहन में क्रांति लाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस नवोन्मेषी प्रणाली का लक्ष्य नासा की चंद्रमा से मंगल ग्रह की पहल और रोबोटिक लूनर सरफेस ऑपरेशंस 2 (आरएलएसओ2) जैसी मिशन अवधारणाओं के साथ तालमेल बिठाते हुए एक स्थायी चंद्र आधार के दैनिक संचालन के लिए आवश्यक विश्वसनीय, स्वायत्त और कुशल परिवहन प्रदान करना है।

 

FLOAT सिस्टम का एक अवलोकन

FLOAT प्रणाली बिना शक्ति वाले चुंबकीय रोबोट का उपयोग करती है जो 3-परत वाले लचीले फिल्म ट्रैक पर उड़ते हैं। इन ट्रैकों में डायमैग्नेटिक उत्तोलन का उपयोग करके निष्क्रिय फ्लोटिंग के लिए एक ग्रेफाइट परत, पटरियों के साथ रोबोटों को आगे बढ़ाने के लिए विद्युत चुम्बकीय जोर उत्पन्न करने के लिए एक फ्लेक्स-सर्किट परत और सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने पर बिजली उत्पादन के लिए एक वैकल्पिक पतली-फिल्म सौर पैनल परत शामिल है। चलने वाले हिस्सों को खत्म करके, फ्लोट रोबोट चंद्रमा की धूल के घर्षण और घिसाव को कम करते हैं, एक टिकाऊ और लंबे समय तक चलने वाला परिवहन समाधान प्रदान करते हैं।

 

FLOAT की मुख्य विशेषताएं

यहां ट्रैक सिस्टम (FLOAT सिस्टम) पर लचीले उत्तोलन की मुख्य विशेषताएं दी गई हैं:

  • चुंबकीय उत्तोलन प्रौद्योगिकी: FLOAT विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए तीन-परत फिल्म ट्रैक पर उड़ने वाले चुंबकीय रोबोट का उपयोग करेगा, जो चंद्र धूल से घर्षण को कम करेगा।
  • पेलोड क्षमता: परिवहन प्रणाली को लगभग 1.61 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चलने का अनुमान है, जिसमें नासा के भविष्य के चंद्र बेस से प्रतिदिन 100 टन तक सामग्री ले जाने की क्षमता है।
  • लक्षित अनुप्रयोग: FLOAT मुख्य रूप से उन क्षेत्रों के लिए परिवहन सेवा के रूप में काम करेगा जहां अंतरिक्ष यात्री सक्रिय हैं, चंद्रमा की मिट्टी और अन्य सामग्रियों को चंद्रमा की सतह पर ले जाते हैं। इसके अतिरिक्त, यह अंतरिक्ष यान के लैंडिंग स्थलों और आधार स्थानों के बीच बड़ी मात्रा में सामग्री और उपकरणों के परिवहन की सुविधा प्रदान करेगा।

 

FLOAT का उद्देश्य और कार्यक्षमता

FLOAT की कल्पना एक रोबोटिक परिवहन प्रणाली के रूप में की गई है जिसे चंद्र सतह पर दैनिक संचालन का समर्थन करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसके प्राथमिक कार्यों में विभिन्न क्षेत्रों में चंद्र रेजोलिथ जैसी सामग्रियों का परिवहन करना और अंतरिक्ष यान लैंडिंग स्थलों तक उपकरणों की आवाजाही की सुविधा प्रदान करना शामिल है। यह प्रणाली आवश्यक संसाधन और तार्किक सहायता प्रदान करके चंद्रमा पर निरंतर मानव उपस्थिति को सक्षम करने के लिए महत्वपूर्ण है।

 

FLOAT के पीछे प्रौद्योगिकी

कैलिफ़ोर्निया में NASA की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी (JPL) के इंजीनियरों द्वारा विकसित, FLOAT हाई-स्पीड रेल सिस्टम में उपयोग की जाने वाली चुंबकीय उत्तोलन तकनीक के समान उपयोग करता है। सिस्टम में फ्लैट, चुंबकीय पैनल या “रोबोट” होते हैं, जो बिना किसी हिलते हिस्से के ट्रैक के ऊपर उड़ते हैं। विद्युत चुम्बकीय ऊर्जा से संचालित, ये रोबोट चंद्रमा की सतह पर पेलोड को कुशलतापूर्वक और विश्वसनीय रूप से ले जा सकते हैं।

 

आर्टेमिस कार्यक्रम के साथ एकीकरण

FLOAT नासा के आर्टेमिस कार्यक्रम में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए तैयार है, जिसका उद्देश्य 1972 के बाद पहली बार अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा पर लौटाना है। चंद्रमा पर ज्यादा दूर तक इंसान जा सकें इसके लिए नासा एक रेलवे सिस्टम बनाना चाहता है। NASA Artemis मिशन के जरिए 2026 तक इंसान को फिर से चांद पर भेजना चाहता है। उसका मकसद भविष्य के अंतरिक्ष मिशनों के लिए चांद पर परमानेंट बेस बनाने का है।

FAQs

नासा (NASA) का मुख्यालय कहाँ है?

नासा का मुख्यालय वाशिंगटन डीसी (यूएसए) में स्थित है।

TOPICS: