Home   »   दस बैंकों का विलय: 1 अप्रैल...

दस बैंकों का विलय: 1 अप्रैल से लागू हो रहा है मेगा बैंक मर्जर

दस बैंकों का विलय: 1 अप्रैल से लागू हो रहा है मेगा बैंक मर्जर |_50.1

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने साल 2019 में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के एक बड़े विलय की घोषणा की थी। विलय की इस योजना के अनुसार, 10 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का 4 बैंकों में विलय किया जाना है। अब, भारतीय रिजर्व बैंक ने एक सर्कुलर के साथ सूचना जारी की है कि 10 PSBs का मेगा मर्जर  नए वित्त वर्ष की शुरुआत से यानी 1 अप्रैल 2020 से प्रभावी होगा।


हाल ही में जारी, RBI सर्कुलर के अनुसार, 10 PSB को निम्नलिखित तरीके से 4 बैंकों में मर्ज किया जाएगा (As per the recent RBI circular, 10 PSBs will be merged into 4 in the following manner):

  • 1 अप्रैल, 2020 से, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की सभी शाखाएं पंजाब नेशनल बैंक की शाखाओं के रूप में काम करेंगी। इसके अलावा, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के जमाकर्ताओं सहित ग्राहकों को 1 अप्रैल, 2020 से पंजाब नेशनल बैंक के ग्राहकों के रूप में माना जाएगा।
  • 1 अप्रैल, 2020 से, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक की सभी शाखाएँ यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया की शाखाओं के रूप में काम करेंगी। साथ ही, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक के जमाकर्ताओं सहित ग्राहकों को 1 अप्रैल, 2020 से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहकों के रूप में माना जाएगा।
  • 1 अप्रैल, 2020 से, इलाहाबाद बैंक की सभी शाखाएँ इन्डियन बैंक की शाखाओं के रूप में काम करेंगी। इसके अलावा, इलाहाबाद बैंक के जमाकर्ताओं सहित ग्राहकों को 1 अप्रैल, 2020 से भारतीय बैंक के ग्राहकों के रूप में माना जाएगा।
  • 1 अप्रैल, 2020 से सिंडिकेट बैंक की सभी शाखाएँ केनरा बैंक की शाखाओं के रूप में संचालित होंगी। साथ ही सिंडिकेट बैंक के जमाकर्ताओं सहित ग्राहकों को 1 अप्रैल, 2020 से केनरा बैंक के ग्राहकों के रूप में माना जाएगा। 
 समामेलन(amalgamation) के बाद, देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की कुल संख्या घटकर 12 हो जाएगी।
सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:
  • RBI के 25 वें गवर्नर: शक्तिकांत दास; मुख्यालय: मुंबई; स्थापित: 1 अप्रैल 1935, कोलकाता।
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *