Home   »   महाराष्ट्र कैबिनेट ने दी ‘महाराष्ट्र जीन...

महाराष्ट्र कैबिनेट ने दी ‘महाराष्ट्र जीन बैंक परियोजना’ को मंज़ूरी दी

 

महाराष्ट्र कैबिनेट ने दी 'महाराष्ट्र जीन बैंक परियोजना' को मंज़ूरी दी |_50.1

महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने ‘महाराष्ट्र ज़ीन बैंक परियोजना’ को मंज़ूरी दी है। यह भारत में इस तरह की पहली परियोजना है। इसका उद्देश्य राज्य के भीतर जेनेटिक संसाधनों का संरक्षण प्रदान करना है, जिसके अंतर्गत समुद्री जीवों की विविधता, स्थानीय फसलों के बीज़ के प्रकार और पशु विविधता शामिल है। मंत्रिमंडल के अनुसार, सात फोकस क्षेत्रों (निम्नलिखित) पर अगले पांच वर्षों में 172.39 करोड़ रुपये की राशि ख़र्च की जाएगी।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

सात फोकस क्षेत्र क्या हैं (What are the seven focus areas)?

‘महाराष्ट्र जीन बैंक परियोजना’ सात क्षेत्रों/विषयों पर कार्य करेगा:

  1. समुद्री जैव विविधता (Marine biodiversity)
  2. स्थानीय फसल/बीज़ की किस्में/प्रकार (Local crop/seed varieties)
  3. देशी मवेशियों की नस्लें (Indigenous cattle breeds)
  4. पीने योग्य पानी की जैव विविधता (Freshwater biodiversity)
  5. चारागाह/घास के मैदान, गुल्म भूमि और पशु चरने योग्य भूमि की जैव विविधता (Grassland, scrubland, and animal grazing land biodiversity)
  6. वन अधिकार के अंतर्गत क्षेत्रों के लिए संरक्षण और प्रबंधन योजना (Conservation and management plans for areas under forest right)
  7. वन क्षेत्रों का कायाकल्प/पुनर्जीवन (Rejuvenation of forest areas)

यह परियोजना महाराष्ट्र राज्य जैव विविधता बोर्ड (Maharashtra State Biodiversity Board – MSBB) द्वारा कार्यान्वित की जाएगी और मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव (वन) के अधीन समितियों द्वारा इसकी देखरेख की जाएगी। महाराष्ट्र राज्य जैव विविधता बोर्ड, राष्ट्रीय समुद्र विज्ञान संस्थान (National Institute of Oceanography – NIO) गोवा जैसे संस्थानों के साथ समन्वय करेगा, ताकि दुर्लभ और लुप्तप्राय समुद्री प्रजातियों के दस्तावेज़ीकरण और संरक्षण हो सके।

परियोजना के तहत प्रमुख गतिविधियां क्या हैं (What are the major activities under the project)?

  • स्वदेशी नॉलेज रिसोर्स का उपयोग किया जाएगा।
  • प्रजातियों और स्थानीय समुदायों के नॉलेज को अच्छी तरह से प्रलेखित/डॉक्यूमेंट किया जाएगा।
  • जेनेटिक और मॉलिक्यूलर नमूनों को संरक्षित किया जाएगा और उनके प्रजनकों का समर्थन किया जाएगा।
  • सरकार फसल जैव विविधता को संरक्षित करने हेतु जीनोम वाहकों को प्रोत्साहित करेगी जो स्थानीय फसल किस्मों के बीजों का संरक्षण करते हैं और बीज बैंक बनाते हैं।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • महाराष्ट्र राजधानी: मुंबई;
  • महाराष्ट्र राज्यपाल: भगत सिंह कोश्यारी;
  • महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री: उद्धव ठाकरे।

Find More State In News Here

महाराष्ट्र कैबिनेट ने दी 'महाराष्ट्र जीन बैंक परियोजना' को मंज़ूरी दी |_60.1

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *