Home   »   भारत की पशुधन आबादी में 4.6...

भारत की पशुधन आबादी में 4.6 प्रतिशत से वृद्धि

भारत की पशुधन आबादी में 4.6 प्रतिशत से वृद्धि |_50.1
भारत की पशुधन आबादी 2012 की तुलना में 4.6 प्रतिशत बढ़कर 535.78 मिलियन हो गयी है। पशुपालन और डेयरी विभाग ने 20वीं पशुधन जनगणना-2019 के परिणाम जारी किये हैं। इन परिणामों के अनुसार, भारत की पशुधन आबादी 2012 में 512 मिलियन से 4.6 प्रतिशत बढ़कर 2019 में 535.78 मिलियन हो गयी है।

2019 में कुल गोजातीय जनसंख्या (गोधन, भैंस, मिथुन और याक) पिछली जनगणना की तुलना में 1 प्रतिशत बढ़कर 302.79 मिलियन हो गयी है। राज्यों में, उत्तर प्रदेश की पशुधन आबादी 67.8 मिलियन है(2012 में 68.7 मिलियन) जो कि सबसे अधिक है, राजस्थान की 56.8 मिलियन (57.7 मिलियन), मध्य प्रदेश की 40.6 मिलियन (36.3 मिलियन) और पश्चिम बंगाल की 37.4 मिलियन (30.3 मिलियन) है।
इस जनगणना में आमतौर पर सभी पालतू जानवरों को शामिल करके गिना जाता है। 20वीं पशुधन जनगणना पूरे देश में लगभग 6.6 लाख गांवों और 89 हजार शहरों में की गई है।

उपरोक्त समाचार से IBPS RRB (Clerk) Main 2019 परीक्षा  के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी के केंद्रीय मंत्री: गिरिराज सिंह।

स्रोत: द हिंदू

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *