Home   »   कर्नाटक ने आंध्र प्रदेश को हराकर...

कर्नाटक ने आंध्र प्रदेश को हराकर नागेश ट्रॉफी जीती

कर्नाटक ने आंध्र प्रदेश को हराकर नागेश ट्रॉफी जीती |_30.1

कर्नाटक ने नागेश ट्रॉफी जीती, जो पुरुषों के राष्ट्रीय दृष्टिबाधित टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट 2023-24 में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।

कर्नाटक ने नागेश ट्रॉफी जीती, जो पुरुषों के राष्ट्रीय दृष्टिबाधित टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट 2023-24 में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। नागपुर में आयोजित रोमांचक फाइनल में कर्नाटक ने आंध्र प्रदेश को नौ विकेट से हराया और राष्ट्रीय खिताब के लिए 20 वर्ष की प्रतीक्षा को खत्म किया। इस जीत ने न केवल दृष्टिबाधित क्रिकेटरों की असाधारण प्रतिभा को प्रदर्शित किया बल्कि लचीलेपन और दृढ़ संकल्प की भावना को भी उजागर किया जो खेल को परिभाषित करता है।

मंच तैयार करना: एक कठिन चुनौती

पूरे टूर्नामेंट में अपने शानदार प्रदर्शन के लिए मशहूर आंध्र प्रदेश ने 20 ओवरों में 237/5 का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा। टी. दुर्गा राव और डी. वेंकटेश्वर राव जैसे फॉर्म में चल रहे बल्लेबाजों के साथ, आंध्र प्रदेश ने सराहनीय कौशल का प्रदर्शन किया और एक गहन समापन के लिए मंच तैयार किया। कप्तान टी दुर्गा राव के शानदार शतक ने टीम को एक मजबूत स्कोर तक पहुंचा दिया, जिससे कर्नाटक पर असाधारण प्रतिक्रिया देने का दबाव बन गया।

बड़े लक्ष्य का सामना

एक बड़े लक्ष्य का सामना करते हुए, कर्नाटक की शुरुआत आदर्श से कम रही, उसने शुरुआती ओवर में ही एक विकेट खो दिया। हालाँकि, इस झटके ने कर्नाटक टीम के उत्साह को कम नहीं किया। गुडडप्पा के साथ सुनील रमेश ने 186 रनों की शानदार साझेदारी की, जिसने गति को कर्नाटक के पक्ष में स्थानांतरित कर दिया। सुनील रमेश की सिर्फ 67 गेंदों पर 149 रनों की विस्फोटक पारी उनकी प्रतिभा और दृढ़ संकल्प का नमूना थी, जिसने कर्नाटक को दो गेंद शेष रहते ऐतिहासिक जीत दिलाई। उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन ने उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब दिलाया।

उत्कृष्टता का जश्न: पुरस्कार और सम्मान

टूर्नामेंट ने न केवल कर्नाटक की जीत का जश्न मनाया बल्कि विभिन्न श्रेणियों में व्यक्तिगत प्रतिभा को भी मान्यता दी। बी1 श्रेणी में नरेश तुमड़ा (गुजरात), बी2 में दुन्ना वेंकटेश्वर राव (आंध्र प्रदेश) और बी3 में सुनील रमेश (कर्नाटक) को प्लेयर ऑफ द सीरीज पुरस्कार से सम्मानित किया गया। पुरस्कार समारोह में विजेता टीम को 1,04,000 रुपये का नकद पुरस्कार मिला, जबकि उपविजेता को 80,000 रुपये का पुरस्कार दिया गया। व्यक्तिगत खिलाड़ियों के योगदान को भी स्वीकार किया गया, प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ और प्लेयर ऑफ़ द मैच को उनके असाधारण प्रदर्शन के लिए नकद पुरस्कार प्राप्त हुए।

दूरदर्शिता और समर्पण को श्रद्धांजलि

भारतीय दृष्टिबाधित क्रिकेट एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष और विकलांगों के लिए समर्थनम ट्रस्ट के संस्थापक ट्रस्टी स्वर्गीय एसपी नागेश की स्मृति में नामित नागेश ट्रॉफी, दृष्टिबाधित क्रिकेटरों की अदम्य भावना के प्रमाण के रूप में खड़ी है। क्रिकेट एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड इन इंडिया (सीएबीआई), क्रिकेट एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड इन विदर्भ और समर्थनम ट्रस्ट फॉर द डिसेबल्ड द्वारा आयोजित यह टूर्नामेंट खेलों में समावेशिता और सशक्तिकरण के महत्व को रेखांकित करता है।

कर्नाटक ने आंध्र प्रदेश को हराकर नागेश ट्रॉफी जीती |_40.1

FAQs

भारतीय सिनेमा में योगदान के लिए किसे 54वे IFFI में सम्मानित किया गया है?

माधुरी दीक्षित

TOPICS: