Home   »   अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस: 21 मई

अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस: 21 मई

अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस: 21 मई |_30.1
भारत की सिफारिश पर विश्व भर में 21 मई को International Tea Day यानि अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के रुप में मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस को मनाए जाने का उद्देश्य चाय उत्पादकों और चाय श्रमिकों की स्थिति में सुधार करने का प्रयास करना है। चाय उत्पादक देश इस व्यवसाय से बहुत लाभ कमाते हैं लेकिन चाय बागानों में काम करने वाले मजदूरों की हालत आज भी बहुत खराब है। इस तरह, अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का उद्देश्य चाय श्रमिकों के अधिकारों, दैनिक मजदूरी, सामाजिक सुरक्षा, रोजगार सुरक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति को बेहतर करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने भारत द्वारा अक्टूबर 2015 में चाय पर अंतरराष्ट्रीय खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) के अंतर सरकारी समूह की बैठक में दिए गए प्रस्ताव के बाद 21 मई को अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में घोषित किया था। साल 2019 से पहले, 15 दिसंबर को चाय उत्पादक देशों बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, वियतनाम, इंडोनेशिया, केन्या, मलावी, मलेशिया, युगांडा, भारत और तंजानिया में अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में मनाया जाता था। 

 क्या है चाय?

चाय कैमेलिया सिनेंसिस पौधे से बनने वाला एक पेय पदार्थ है। चाय पानी के बाद दुनिया का सबसे ज्यादा पिया जाने वाला पेय पदार्थ है। ऐसा माना जाता है कि चाय की उत्पत्ति उत्तरपूर्वी भारत, उत्तर म्यांमार और दक्षिण-पश्चिम चीन में हुई थी, लेकिन अभी तक इसके मूल स्थान के बारे में कोई भी विश्वनीय जानकारी नहीं है। इसके वाबजूद चाय का लंबे समय से सेवन किया जा रहा है। इस बात के भी कुछ प्रमाण मिलते हैं कि चीन में लगभग 5,000 साल पहले चाय पी जाती थी। चाय का सेवन एंटीऑक्सिडेंट और वजन घटाने के प्रभावों के लिए  स्वास्थ्य लाभ और कल्याणकारी माना जाता है। कई समुदायों में इसका सांस्कृतिक महत्व भी है।

उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए
महत्वपूर्ण तथ्य-

  • खाद्य और कृषि संगठन के महानिदेशक: क्व डोंगयु
  • खाद्य और कृषि संगठन मुख्यालय: रोम, इटली.
  • खाद्य और कृषि संगठन स्थापित: 16 अक्टूबर 1945.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *