Home   »   अंतर्राष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 अहमदाबाद में...

अंतर्राष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 अहमदाबाद में शुरू

अंतर्राष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 अहमदाबाद में शुरू_3.1

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने 08 जनवरी को अहमदाबाद में अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 का उद्घाटन किया। जी-20 थीम ‘एक धरती, एक परिवार, एक भविष्य ‘ पर आधारित इस महोत्सव में 68 देशों के करीब 125 पतंग उड़ाने वाले हिस्सा लेंगे। अंतरराष्ट्रीय सहभागियों के अलावा देश के 14 राज्यों के 65 पतंगबाज तथा गुजरात के विभिन्न हिस्सों के 660 पतंगबाज भी इस समारोह में भाग लेंगे। दो साल के अंतराल के बाद आयोजित हो रहे इस महोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने किया। पिछला संस्करण 2020 में 43 देशों के 153 प्रतिभागियों के साथ आयोजित किया गया था।

Bank Maha Pack includes Live Batches, Test Series, Video Lectures & eBooks

सप्ताह भर चलने वाले इस महोत्सव का समापन 14 जनवरी को होगा। मुख्यमंत्री पटेल ने साबरमती रिवरफ्रंट पर कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गुजरात में विकास की पतंग लगातार दो दशकों में नई ऊंचाइयों को पार करती रही है। उन्होंने कहा कि पतंग उत्सव आसमान को छूने तथा नई ऊंचाइयों तक पहुंचने का एक मौका है, क्योंकि पतंग प्रगति, समृद्धि एवं उड़ान की प्रतीक है। इस साल विभिन्न देशों के पतंग प्रेमी एक ही समय में सबसे ज्यादा पतंग उड़ाने वालों का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का प्रयास करेंगे।

 

विशेष रूप से: इस आयोजन में भाग लेने वाले 68 देशों में ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, रूस, जर्मनी, ग्रीस, इज़राइल, मिस्र, कोलंबिया, डेनमार्क, न्यूजीलैंड, इंडोनेशिया, इटली, मैक्सिको, दक्षिण अफ्रीका, बेल्जियम, बहरीन, इराक और मलेशिया शामिल हैं।

 

अंतर्राष्ट्रीय पतंग उत्सव:

 

अंतर्राष्ट्रीय पतंग उत्सव के कई नाम हैं, इसे गुजरात में उत्तरायण या मकर संक्रांति के नाम से भी जाना जाता है। यह त्योहार 1989 से हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है। पतंगबाजी का नेतृत्व अहमदाबाद से किया जाता है। इसे गुजरात के सबसे बड़े त्योहारों में से एक माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह वह दिन है जब देवता अपनी लंबी नींद से जागते हैं और स्वर्ग के द्वार खुलते हैं। अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव के आकर्षण में तरह-तरह की पतंगे होती हैं। जिन्हें देखने लोग दूर-दराज से आते हैं। लोग अपने घरों की छतों से पतंगे देखते हैं। गुजरात में बीते दो दशकों में 8-10 करोड़ रुपये का पतंग उद्योग बढ़कर 625 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।

Find More Miscellaneous News Here

 

10th Edition of North East Festival Begins at Jawaharlal Nehru Stadium_80.1

FAQs

गुजरात का पहला राजा कौन था?

गुजरात के पहले स्वतंत्र सुल्तान अहमद शाह थे, जिन्होंने अहमदाबाद (1411) की स्थापना की।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *