Home   »   अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस : 2 अक्टूबर

अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस : 2 अक्टूबर

अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस : 2 अक्टूबर |_30.1

महात्मा गांधी के जन्मदिन 2 अक्टूबर पर अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र की आमसभा के अनुसार, इस दिवस का उद्देश्य लोगों में शिक्षा और जन जागरूकता के माध्यम से “अहिंसा के संदेश” को फैलाना है। यह दिन जन जागरूकता और शिक्षा के माध्यम से अहिंसा के संदेश को फैलाने के लिए मनाया जाता है।

Bank Maha Pack includes Live Batches, Test Series, Video Lectures & eBooks

इस दिन की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 2007 में की गई थी। अहिंसा की नीति के ज़रिए विश्व भर में शांति के संदेश को बढ़ावा देने के महात्मा गाँधी के योगदान को सराहने के लिए ही इस दिन को ‘अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस’ के रूप में मनाने का फ़ैसला किया गया। इस सिलसिले में ‘संयुक्त राष्ट्र महासभा’ में भारत द्वारा रखे गए प्रस्ताव का भरपूर समर्थन किया गया। महासभा के कुल 191 सदस्य देशों में से 140 से भी ज़्यादा देशों ने इस प्रस्ताव को सह-प्रायोजित किया।

 

महात्मा गांधी: एक नजर में

 

  • मोहनदास करमचंद गाँधी को महात्मा गांधी के नाम से जाना जाता है, उन्होंने भारत की स्वतंत्रता में अहम भूमिका निभाई थी। उनका जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को ब्रिटिश भारत की बॉम्बे प्रेसीडेंसी के पोरबंदर में हुआ था।
  • महात्मा गांधी की हत्या 30 जनवरी, 1948 को नाथूराम गोडसे द्वारा की गयी थी। स्वतंत्रता आन्दोलन में उनके निस्वार्थ योगदान के लिए गांधीजी को “बापू” भी कहा जाता है।
  • उन्हें अनाधिकारिक रूप से “राष्ट्रपिता” भी कहा जाता है। गांधीजी 1915 में दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे और वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए।
  • उन्होंने स्वतंत्रता के लिए सत्याग्रह तथा असहयोग आन्दोलन का उपयोग किया। गांधीजी ने अपने जीवन को सरलता और सदाचार से जीया और वे पारंपरिक भारतीय परिधान धोती और शाल ही पहनते थे।

Find More Important Days Hereअंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस : 2 अक्टूबर |_40.1

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *