gdfgerwgt34t24tfdv
Home   »   भारतीय नौसेना ने 32 साल की...

भारतीय नौसेना ने 32 साल की सेवा के बाद आईएनएस अजय को सेवामुक्त किया

भारतीय नौसेना ने 32 साल की सेवा के बाद आईएनएस अजय को सेवामुक्त किया |_3.1

32 साल देश की सेवा करने के बाद आईएनएस अजय (INS Ajay) रिटायर हो गया। आईएनएस अजय को सेवामुक्त कर दिया गया। आईएनएस अजय को पूरे सम्मान के साथ विदाई दी गई। कारगिल युद्ध में आईएनएस अजय ने अहम भूमिका निभाई थी। आईएनएस अजय का विदाई समारोह पारंपरिक तरीके से मुंबई के नेवल डॉकयार्ड में आयोजित किया गया था, जिसमें राष्ट्रीय ध्वज, नौसैनिक पताका और जहाज के डिमोशनिंग पेनेंट को आखिरी बार सूर्यास्त के समय उतारा गया था, जो जहाज की कमीशन सेवा के अंत का प्रतीक है।

 

Bank Maha Pack includes Live Batches, Test Series, Video Lectures & eBooks

 

इस समारोह कार्यक्रम में वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह, फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, पश्चिमी नौसेना कमान समारोह के मुख्य अतिथि थे। जहाज के पहले कमांडिंग ऑफिसर वाइस एडमिरल एजी थपलियाल एवीएसएम बार (सेवानिवृत्त) विशिष्ट अतिथि थे। नौसेना के इस पोत P34 का नाम आईएनएस अजय नाम दिया गया था। लंबी दूरी के टॉरपीडो और पनडुब्बी रोधी रॉकेटों जैसे हथियारों से लैस होने के कारण आईएनएस अजय को ‘पनडुब्बी हंटर’ के नाम से भी जाना जाता था।

 

मुख्य बिंदु

 

  • आईएनएस अजय को 24 जनवरी, 1990 को तत्कालीन यूएसएसआर में पोटी, जॉर्जिया में कमीशन किया गया था और फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग, महाराष्ट्र नेवल एरिया के संचालन नियंत्रण के तहत 23 वें पैट्रोल वेसल स्क्वाड्रन का हिस्सा था।
  • जहाज 32 से अधिक वर्षों से सक्रिय नौसैनिक सेवा में था और अपनी शानदार यात्रा के दौरान, उसने कारगिल युद्ध के दौरान ऑपरेशन तलवार और 2001 में ऑपरेशन पराक्रम सहित कई नौसैनिक अभियानों में भाग लिया।
  • इस समारोह में 400 से अधिक कर्मियों ने भाग लिया जिनमें फ्लैग ऑफिसर, सेना, आईएएफ और सीजी के वरिष्ठ अधिकारी, कमीशनिंग क्रू के अधिकारी और पुरुष, पिछले कमीशन के चालक दल के साथ-साथ जहाजों के चालक दल और परिवार मौजूद थे।

Find More News Related to Defence

Indian Army activates satellite-based internet service on Siachen Glacier, world's highest battlefield_70.1

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *