Home   »   देश के पहले और विश्व के...

देश के पहले और विश्व के दूसरे इन्फैंट्री संग्रहालय आम जनता के लिए खुला

देश के पहले और विश्व के दूसरे इन्फैंट्री संग्रहालय आम जनता के लिए खुला_3.1

इन्फैंट्री स्कूल की स्थापना के 75वें वर्ष की पूर्व संध्या पर और विजय दिवस मनाने के लिए देश का पहला इन्फैंट्री संग्रहालय आम जनता के लिए खोला गया। इन्फैंट्री स्कूल महू के तत्वावधान में विश्व स्तरीय संग्रहालय की स्थापना इन्फैंट्री को थीम लाइन इन्फैंट्री द अल्टीमेट के साथ प्रदर्शित करने के इरादे से की गई है। इस म्यूजियम का निर्माण 2007 में शुरू किया गया था। वहीं 2017 में बनकर तैयार होने के बाद इसे सेना के अधिकारियों जवानों के लिए खोला गया था। वहीं अब करीब 5 साल बाद यह देश के आम नागरिकों के लिए खोला गया है। इस दौरान लेफ्टिनेंट जनरल पीएन अनंतनारायणन, एसएम, कमांडेंट, द इन्फैंट्री स्कूल, महू ने इस औपचारिक मील के पत्थर को देखने के लिए सम्मानित दिग्गजों और नागरिक गणमान्य लोगों को आमंत्रित किया।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

संग्रहालय में 1747 से 2020 तक इन्फैंट्री के इतिहास की सभी झलक मौजूद है जिसमें मूर्तियों भित्ति चित्रों और फोटो गैलरी में संरक्षित हमारे बहादुर सैनिकों की समृद्ध विरासत गौरवशाली अतीत और सर्वोच्च बलिदान को दर्शाया गया है। इस संग्रहालय के निर्माण पर एक दशक से काम चल रहा है। इन्फैंट्री म्यूजियम को एक लिविंग कॉन्सेप्ट म्यूजियम पर डिजाइन किया गया है, भवन को समग्र योजना के अनुसार अलग-अलग भाग में विकसित किया गया है। म्यूजियम की तीन मंजिला इमारत को दो एकड़ जमीन में बनाया गया है। इसमें 17 अलग-अलग कमरे हैं जो 30 विषय क्षेत्रों में कालानुक्रमिक क्रम में 1747 से भारतीय इन्फैंट्री के इतिहास और विकास को कवर कर रहे हैं। यहां प्लासी की लड़ाई 1757 सारागढ़ी की लड़ाई 1897 बक्सर की लड़ाई भारत-पाक युद्ध 1965 और 1971 के साथ-साथ शिवाजी और सुभाष चंद्र बोस के इतिहास को संरक्षित किया गया है।

 

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

 

  • मध्य प्रदेश की राजधानी: भोपाल;
  • मध्य प्रदेश के राज्यपाल: मंगुभाई सी. पटेल;
  • मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री: शिवराज सिंह चौहान।

Find More State In News Here

Madhya Pradesh: Ujjain to Get World's First Vedic Clock_90.1

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *