Home   »   भारतीय मूल के रोबोटिक्स इंजीनियर नासा...

भारतीय मूल के रोबोटिक्स इंजीनियर नासा के नव-स्थापित मून टू मार्स प्रोग्राम के प्रमुख होंगे

भारतीय मूल के रोबोटिक्स इंजीनियर नासा के नव-स्थापित मून टू मार्स प्रोग्राम के प्रमुख होंगे_3.1

 

अमित क्षत्रिया, एक भारतीय-अमेरिकी इंजीनियर जिन्हें सॉफ्टवेयर और रोबोटिक्स में विशेषज्ञता है, को NASA के हाल ही में स्थापित मून टू मार्स प्रोग्राम के प्रथम प्रमुख के रूप में नियुक्त किया गया है। यह कार्यक्रम चाँद पर लंबी अवधि तक रहने को स्थापित किया गया है, जो मंगल के भविष्य की मिशन की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण है। क्षत्रिया तत्काल प्रभाव से नासा के नए कार्यालय के प्रमुख के रूप में कार्य करेंगे। वे तुरंत इस कार्यालय के नेतृत्व करेंगे, जो चंद्रमा और मंगल पर एजेंसी की मानव अन्वेषण गतिविधियों का प्रबंधन करेगा। इस कार्यालय के प्रमुख के रूप में, क्षत्रिया मानव अनुभवों की योजना बनाने और इन स्वर्गीय शरीरों पर मानव मिशन का कार्यान्वयन करने के लिए जिम्मेदार होंगे, जो मानवता के भलाई के लिए होगा।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

क्षत्रिया पहले स्पेस लॉन्च सिस्टम, ओरियन, और एक्सप्लोरेशन ग्राउंड सिस्टम्स प्रोग्रामों के निदेशक के रूप में सेवा कर चुके हैं, जहां उन्होंने नेतृत्व और एकीकरण प्रदान किया। उन्होंने नासा के मून से मार्स उद्देश्यों का समर्थन करने वाले विभिन्न आर्टेमिस कैंपेन डेवलपमेंट डिवीजन पहलुओं में भी शामिल होने का अनुभव हासिल किया है। उनकी वर्तमान नियुक्ति से पहले, क्षत्रिया कॉमन एक्सप्लोरेशन सिस्टम डेवलपमेंट डिवीजन के एक्टिंग डिप्टी एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर के पद पर थे। क्षत्रिया का अंतरिक्ष कार्य में करियर 2003 में शुरू हुआ था, जहां उन्होंने मुख्य रूप से अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के रोबोटिक असेम्बली पर ध्यान केंद्रित करते हुए सॉफ्टवेयर इंजीनियर, रोबोटिक्स इंजीनियर, और स्पेसक्राफ्ट ऑपरेटर के रूप में काम किया था।

मून टू मार्स प्रोग्राम के बारे में

नई बनाई गई मून टू मार्स प्रोग्राम ऑफिस को नासा को मंगल ग्रह पर मानवों को लैंडिंग करने और चंद्रमा पर अन्वेषण मिशनों का आयोजन करने के लक्ष्य को हासिल करने में मदद करने के लिए बनाया गया है। 2022 के नासा ऑथराइजेशन एक्ट के अनुसार, ऑफिस एजेंसी के अन्वेषण दृष्टिकोण का समर्थन करने वाली महत्वपूर्ण हार्डवेयर विकास, मिशन एकीकरण, और जोखिम प्रबंधन के कार्यों के लिए जिम्मेदार होगा। प्रेस रिलीज में उल्लेख किया गया है कि यह दृष्टिकोण अर्थमिस मिशनों का उपयोग नए वैज्ञानिक खोजों की खोली जाने वाली संभावनाओं और मंगल ग्रह पर भविष्य के मानव मिशनों की तैयारी के लिए करने का आधार है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे: 

  • नासा मुख्यालय: वाशिंगटन, डीसी, संयुक्त राज्य अमेरिका;
  • नासा की स्थापना: 29 जुलाई 1958, संयुक्त राज्य अमेरिका;
  • नासा प्रशासक: बिल नेल्सन।

FAQs

NASA क्या है और इसका मुख्यालय कहाँ है ?

NASA (National Aeronautics and Space Administration) अमेरिकी संघीय सरकारी एजेंसी है जो अंतरिक्ष अनुसंधान को नियंत्रित करती है। NASA का मुख्यालय वाशिंगटन डीसी के उत्तरी क्षेत्र में है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *