Home   »   इंजीनियरी कोर का 242वां स्‍थापना दिवस

इंजीनियरी कोर का 242वां स्‍थापना दिवस

इंजीनियरी कोर का 242वां स्‍थापना दिवस |_3.1

भारतीय सेना 18 नवंबर को इंजीनियरी कोर का 242वां स्‍थापना दिवस मना रही है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा प्रमुख जनरल अनिल चौहान और थल सेनाध्‍यक्ष जनरल मनोज पांडे ने इस अवसर पर इंजीनियरी कोर के सभी सदस्‍यों को शुभकामनाएं दी हैं। स्‍थापना दिवस के अवसर पर आकाशवाणी के साथ विशेष भेंट में इंजीनियरी कोर के इंजीनियर इन चीफ और सीनियर कर्नल कमाण्‍डेंट, लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने कोर के सदस्‍यों का आह्वान किया है कि वे भावी चुनौतियों से निपटने के लिए अधिक परिश्रम करने के लिए तैयार रहें।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

भारतीय सेना में कोर ऑफ इंजीनियर्स क्या है?

 

कोर ऑफ इंजीनियर्स युद्धक इंजीनियरिंग सहायता प्रदान करता है, सशस्त्र बलों और अन्य रक्षा संगठनों के लिए बुनियादी ढांचे का विकास करता है और प्राकृतिक आपदाओं के दौरान आबादी को सहायता प्रदान करने के अलावा हमारी विशाल सीमाओं के साथ संपर्क बनाए रखता है। इन कार्यों को कोर के चार स्तंभों – कॉम्बैट इंजीनियर्स, मिलिट्री इंजीनियर सर्विस, बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन और मिलिट्री सर्वे के जरिए अंजाम दिया जाता है।

कोर ऑफ इंजीनियर्स के तीन समूह हैं, अर्थात् मद्रास सैपर्स, बंगाल सैपर्स और बॉम्बे सैपर्स जिन्हें 18 नवंबर 1932 को कोर में समामेलित किया गया था। इसकी स्थापना के बाद से, इतिहास युद्ध और शांति दोनों में कोर ऑफ इंजीनियर्स के विशाल अनुकरणीय योगदान से भरा हुआ है।

 

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य:

 

  • भारतीय सेना कोर ऑफ इंजीनियर्स मुख्यालय: नई दिल्ली, भारत;
  • भारतीय सेना कोर ऑफ इंजीनियर्स शाखा: भारतीय सेना;
  • भारतीय सेना कोर ऑफ इंजीनियर्स रंग: मैरून और नीला;
  • भारतीय सेना कोर इंजीनियर-इन-चीफ: लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह;
  • इंडियन आर्मी कॉर्प्स ऑफ इंजीनियर्स का आदर्श वाक्य: सर्वत्र (यूबिक, एवरीवेयर)।

Find More Important Days HereNational Epilepsy Day Observed On 17 November_90.1

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *