Home   »   इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमी हैकाथॉन (I-ACE)

इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमी हैकाथॉन (I-ACE)

 

इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमी हैकाथॉन (I-ACE) |_50.1

प्रधान मंत्री, श्री नरेंद्र मोदी ने वीडियोकांफ्रेंसिंग के माध्यम से इंडिया ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमी हैकाथॉन (I-ACE) के कार्यक्रम को संबोधित किया. एक सर्कुलर इकोनॉमी का तात्पर्य है कि इस तरह की सामग्रियों को एम्बेडेड संसाधनों के साथ बर्बाद करने के बजाय नए उत्पादों को बनाने के लिए उत्पादन चक्र में कचरे का पुन: उपयोग किया जाता है.

I-ACE संयुक्त रूप से अटल इनोवेशन मिशन, NITI आयोग, भारत सरकार और राष्ट्रमंडल वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान संगठन (CSIRO), ऑस्ट्रेलिया द्वारा आयोजित किया गया था. भारत की 39 टीमों में 200 से अधिक प्रतिभागियों और ऑस्ट्रेलिया से 33 टीमों ने भाग लिया.

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

हैकाथॉन के लिए चार प्रमुख विषय

  • पैकेजिंग कचरे को कम करने में पैकेजिंग में नवाचार (Innovation in packaging reducing packaging waste)
  • कचरे से बचने के लिए खाद्य आपूर्ति श्रृंखलाओं में नवाचार (Innovation in food supply chains avoiding waste)
  • प्लास्टिक कचरे में कमी के अवसर पैदा करना (Creating opportunities for plastic waste reduction)
  • महत्वपूर्ण ऊर्जा धातुओं और ई-कचरे का पुनर्चक्रण (Recycling critical energy metals and e-waste)


उद्देश्य:

  • नवीन प्रौद्योगिकी समाधानों के माध्यम से हमारे ग्रह के दीर्घकालिक स्वास्थ्य और लचीलापन बढ़ाने के उद्देश्य से खाद्य प्रणाली मूल्य श्रृंखला में एक परिपत्र अर्थव्यवस्था के विकास के लिए नवीन समाधानों को बढ़ावा देने के लिए दोनों देशों के छात्रों और स्टार्टअप / एमएसएमई को सक्षम करना.
  • I-ACE का उद्देश्य सतत भविष्य के निर्माण की दिशा में काम कर रहे युवा और होनहार छात्रों तथा स्टार्टअप / एमएसएमई के विकास में तेजी लाना है.


सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य:

  • ऑस्ट्रेलिया के प्रधान मंत्री: स्कॉट मॉरिसन.
  • ऑस्ट्रेलिया की मुद्रा: ऑस्ट्रेलियाई डॉलर.
  • ऑस्ट्रेलिया की राजधानी: कैनबरा. 

Find More Summits and Conferences Here

इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमी हैकाथॉन (I-ACE) |_60.1

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *