Home   »   भारत और संयुक्त अरब अमीरात ने...

भारत और संयुक्त अरब अमीरात ने शिक्षा के क्षेत्र में परस्‍पर सहयोग बढ़ाने हेतु समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

भारत और संयुक्त अरब अमीरात ने शिक्षा के क्षेत्र में परस्‍पर सहयोग बढ़ाने हेतु समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए |_30.1

भारत और संयुक्त अरब अमीरात ने शिक्षा के क्षेत्र में परस्‍पर सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और संयुक्‍त अरब अमीरात के शिक्षा मंत्री डॉ. अहमद अल फलासी के बीच अबु धाबी में हुई बैठक में इस समझौते पर हस्‍ताक्षर किये गये। इसका उद्देश्य छात्रों और शिक्षकों के आदान-प्रदान, संयुक्त अनुसंधान पहल, पाठ्यक्रम की रूप रेखा तैयार करने और शैक्षिक कार्यक्रमों में सक्रिय भागीदारी जैसे सहयोग के विभिन्न रूपों को बढ़ावा देना है।

इस अवसर पर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि वैश्विक प्रतिभा के केन्‍द्र भारत और बडे आर्थिक केन्‍द्र के रूप में पहचाने जाने वाले संयुक्‍त अरब अमीरात का एक साथ आना दोनों के लिए लाभकारी होगा। उन्‍होंने जी 20 फ्रेमवर्क के तहत शिक्षा कार्यसमूह की चौथी बैठक के दौरान दोंनो देशों के बीच शिक्षा और कौशल विकास के क्षेत्र में परस्‍पर सहयोग के प्रयासों में हुई प्रगति का भी जायजा लिया।

 

नए समझौता के तहत

नए समझौता के तहत भारत और संयुक्त अरब अमीरात की सामान्य और उच्च शिक्षा प्रणालियों के दायरे में नियमों, कानूनी संरचनाओं और सर्वोत्तम प्रथाओं के बारे में ज्ञान साझा करना शामिल है। इसके जरिए दोनों देश अपने उच्च शिक्षा संस्थानों के बीच अकादमिक साझेदारी की सुविधा प्रदान करेंगे, जिसके परिणामस्वरूप संयुक्त डिग्री और दोहरी डिग्री कार्यक्रम शुरु किए जा सकेगें। समझौता ज्ञापन के दायरे का विस्‍तार उच्‍च शिक्षा क्षेत्र से आगे तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षा के क्षेत्र में क्षमता विकास तक भी होगा। इस समझौता ज्ञापन के सफल कार्यान्वयन की निगरानी के लिए, एक संयुक्त कार्य समूह की स्थापना की जाएगी, जिसकी अध्यक्षता बारी-बारी से भारत और संयुक्त अरब अमीरात के शिक्षा मंत्रालयों के प्रतिनिधि करेंगे।

 

भारतीय पाठ्यचर्या स्कूलों के लिए समर्थन

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भारतीय पाठ्यक्रम वाले स्कूलों को यूएई के समर्थन के लिए आभार व्यक्त किया। यह समर्थन संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय छात्रों के लिए शैक्षिक मानकों को बनाए रखने में योगदान देता है।

 

छात्र विनिमय कार्यक्रम

  • प्रधान ने भारत और यूएई के बीच छात्र आदान-प्रदान कार्यक्रमों की योजनाओं पर भी चर्चा की।
  • इन कार्यक्रमों का उद्देश्य छात्रों को मूल्यवान अंतर्राष्ट्रीय शैक्षिक अनुभव और सांस्कृतिक प्रदर्शन प्रदान करना है।

 

ज्ञान सेतु का निर्माण

  • केंद्रीय मंत्री प्रधान ने वैश्विक आर्थिक हॉटस्पॉट संयुक्त अरब अमीरात और वैश्विक प्रतिभा हॉटस्पॉट भारत के बीच एक ज्ञान पुल के निर्माण के महत्व पर जोर दिया।
  • इस सहयोग का उद्देश्य दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक और शैक्षिक संबंधों को मजबूत करना है।

 

Find More News Related to Agreements

 

भारत और संयुक्त अरब अमीरात ने शिक्षा के क्षेत्र में परस्‍पर सहयोग बढ़ाने हेतु समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए |_40.1

FAQs

संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी कहां है?

संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबुधाबी है।