Home   »   UAE को 75000 टन गैर-बासमती चावल...

UAE को 75000 टन गैर-बासमती चावल का निर्यात करेगा भारत

UAE को 75000 टन गैर-बासमती चावल का निर्यात करेगा भारत |_30.1

भारत सरकार ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को 75,000 टन गैर बासमती सफेद चावल के निर्यात को मंज़ूरी दे दी है। इससे पहले विशेष रूप से, घरेलू कीमतों पर अंकुश लगाने और घरेलू खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 20 जुलाई से गैर-बासमती सफेद चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

विदेश व्यापार महानिदेशालय ने सोमवार देर शाम अपनी अधिसूचना में कहा कि यूएई को निर्यात की अनुमति नेशनल कोऑपरेटिव एक्सपोर्ट्स लिमिटेड के माध्यम से दी गई है। निर्यात नीति में संशोधन करते समय, डीजीएफटी ने कहा कि अन्य देशों को उनकी खाद्य सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए उनकी सरकार द्वारा दी गई अनुमति के आधार पर निर्यात की अनुमति दी जाएगी। पिछले महीने, भारत ने सिंगापुर की ” खाद्य सुरक्षा आवश्यकताओं को पूरा करने” के लिए चावल के निर्यात की अनुमति देने का फैसला किया था।

बेनिन प्रमुख आयातकों में से एक देश

बता दें कि पश्चिम अफ्रीकी देश बेनिन भारत से गैर-बासमती चावल के प्रमुख आयातकों में से एक है। अन्य गंतव्य देश संयुक्त अरब अमीरात, नेपाल, बांग्लादेश , चीन, कोटे डी आइवर, टोगो, सेनेगल, गिनी, वियतनाम, जिबूती, मेडागास्कर, कैमरून सोमालिया, मलेशिया और लाइबेरिया है।

 

गैर के निर्यात पर 20 प्रतिशत शुल्क

भारत ने सितंबर 2022 में टूटे हुए चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया और गैर के निर्यात पर 20 प्रतिशत शुल्क लगाया। धान की फसल के रकबे में गिरावट के कारण कम उत्पादन की चिंताओं के बीच उबले चावल को छोड़कर बासमती चावल। हालांकि, बाद में नवंबर में प्रतिबंध हटा दिया गया था।

 

विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने क्या कहा?

विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने एक अधिसूचना में कहा कि एनसीईएल के जरिये यूएई को 75,000 टन गैर-बासमती सफेद चावल के निर्यात की अनुमति दी गई है। सरकार ने इससे पहले सेनेगल (पांच लाख टन), गाम्बिया (पांच लाख टन), इंडोनेशिया (दो लाख टन), माली (एक लाख टन) और भूटान (48,804 टन) को टूटे चावल के निर्यात की अनुमति दी थी।सरकार ने एनसीईएल के जरिये भूटान (79,000 टन), मॉरीशस (14,000 टन) और सिंगापुर (50,000 टन) को गैर-बासमती चावल के निर्यात की अनुमति भी दी है।

 

Find More International News Here

UAE को 75000 टन गैर-बासमती चावल का निर्यात करेगा भारत |_40.1

 

 

 

FAQs

भारत का सबसे महंगा चावल कौन सा है?

काला चावल, जिसे निषिद्ध चावल या सम्राट चावल के रूप में भी जाना जाता है, भारत में चावल की सबसे महंगी किस्मों में से एक माना जाता है।