Home   »   सर्दी के मौसम में यूरोप में...

सर्दी के मौसम में यूरोप में ‘रिकॉर्ड गर्मी’, जानें वजह

सर्दी के मौसम में यूरोप में 'रिकॉर्ड गर्मी', जानें वजह |_50.1

पूरे यूरोप के कई देशों में सर्दी के मौसम में अच्छी खासी गर्मी पड़ रही है। जनवरी में तो तापमान अब तक के सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गया है। समूचे यूरोप में कड़ाके की ठंड के दिनों में रिकॉर्डतोड़ गर्मी पड़ रही है। जनवरी के पहले दो दिन जबर्दस्त गर्म रहे। नए साल के पहले दो दिन सबसे गर्म दिन के रूप में दर्ज किए गए। यूरोप के कम से कम आठ देशों में ऐसे हालात देखे गए। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पोलैंड, डेनमार्क, चेक गणराज्य, नीदरलैंड, बेलारूस, लिथुआनिया और लातविया में जनवरी का अब तक का सबसे गर्म दिन दर्ज किया गया। यूरोप के मौसमविदों ने ‘द गार्जियन’ को बताया कि पिछले कुछ दिनों में पूरे यूरोप में मौसम का रिकॉर्ड हैरान करने वाले ढंग से टूट रहा है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

तापमान पर नजर रखने वाले मौसम वैज्ञानिक मैक्सिमिलियानो हेरेरा के अनुसार पोलैंड के कोरबिएलोव गांव में तापमान 19 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। यह मई में यहां रहने वाले तापमान से अधिक है। तापमान जनवरी के औसत 1 डिग्री तापमान से यह 18 डिग्री ज्यादा है। इसी तरह चेक गणराज्य के जवोर्निक में पारा 19.6 डिग्री सेल्सियस तक चढ़ गया, जबकि इन दिनों में यह औसत 3 डिग्री सेल्सियस रहता है। जर्मनी, उत्तरी स्पेन और फ्रांस के दक्षिण में भी जनवरी में भी रिकॉर्डतोड़ गर्मी पड़ रही है।

 

हीट डोम क्या है?

 

ये एक खास स्थिति है जो तब आती है, जब वायुमंडल गर्म समुद्री हवा को बोतल में किसी ढक्कन की तरह कैद कर लेता है और धीरे-धीरे रिलीज करता है। यूएस के नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक, ऐसा अक्सर तब होता है जब प्रशांत महासागर का एक छोर ठंडा हो जाए, जबकि दूसरा गर्म रहे। इसे ला-नीना स्थिति भी कहते हैं। हीट डोम लगभग हफ्ताभर रह सकता है, जिसके बाद ढक्कन जैसा स्ट्रक्चर कमजोर हो जाता है और फंसी हुई गर्म हवा पूरी तरह खत्म हो जाती है। साल 1995 की जुलाई में 4 ही दिनों के भीतर शिकागो में 739 लोगों की हीट डोम के चलते मौत हो गई।

सर्दी के मौसम में यूरोप में 'रिकॉर्ड गर्मी', जानें वजह |_60.1

 

 

FAQs

हीट वेव के दौरान क्या होता है?

हीट वेव्स फंसी हुई हवा का परिणाम हैं। आम तौर पर हवा बड़ी प्रचलित हवाओं में ग्लोब का चक्कर लगाती है, हालांकि अगर यह एक क्षेत्र में फंस जाती है तो इसे सूर्य के प्रकाश के कारण असामान्य तापमान तक गर्म होने दिया जाता है। उच्च दबाव प्रणालियों के कारण हवा अक्सर फंस जाती है।

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *