gdfgerwgt34t24tfdv
Home   »   एचडीएफसी बैंक: भारतीय बैंकिंग में नए...

एचडीएफसी बैंक: भारतीय बैंकिंग में नए मील का पत्थर

एचडीएफसी बैंक: भारतीय बैंकिंग में नए मील का पत्थर |_3.1

भारत के बैंकिंग उद्योग के लिए एक ऐतिहासिक मील का पत्थर में, घरेलू कंपनी HDFC जल्द ही दुनिया के सबसे मूल्यवान बैंकों में गिनी जाएगी। हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्प के साथ विलय पूरा होने के बाद, HDFC ने इक्विटी बाजार पूंजीकरण के मामले में चौथा स्थान हासिल किया है। यह उपलब्धि HDFC को जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी, इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड और बैंक ऑफ अमेरिका कॉर्प सहित प्रमुख अमेरिकी और चीनी उधारदाताओं के साथ सीधी प्रतिस्पर्धा में रखती है। लगभग 172 बिलियन डॉलर के मूल्यांकन के साथ, नई इकाई वैश्विक बैंकिंग परिदृश्य को फिर से परिभाषित करने के लिए तैयार है।

विलय की अपेक्षित प्रभावी तारीख 1 जुलाई को, समेकित एचडीएफसी बैंक इकाई गर्व से लगभग 120 मिलियन व्यक्तियों के ग्राहक आधार की सेवा करेगी – जर्मनी की पूरी आबादी को पार करते हुए। इसके अलावा, बैंक का शाखा नेटवर्क 8,300 से अधिक तक विस्तारित होगा, जो पूरे भारत में इसकी उपस्थिति को मजबूत करेगा। यह उल्लेखनीय वृद्धि एक प्रभावशाली कार्यबल में भी तब्दील होती है, क्योंकि नया एचडीएफसी बैंक 177,000 से अधिक प्रतिभाशाली पेशेवरों को रोजगार देगा।

HDFC की जबरदस्त वृद्धि ने इसे HSBC होल्डिंग्स पीएलसी और सिटीग्रुप इंक जैसे प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय बैंकों से आगे बढ़ा दिया है। विशेष रूप से, इसने बाजार पूंजीकरण के मामले में अपने भारतीय समकक्षों, भारतीय स्टेट बैंक और ICICI बैंक को भी पीछे छोड़ दिया है। 22 जून तक, एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण लगभग 172 बिलियन डॉलर है, जबकि भारतीय स्टेट बैंक और आईसीआईसीआई बैंक क्रमशः 62 बिलियन डॉलर और 79 बिलियन डॉलर से पीछे हैं। यह उल्लेखनीय प्रदर्शन एचडीएफसी को वैश्विक बैंकिंग क्षेत्र में एक ताकत के रूप में स्थापित करता है।

वित्तीय विशेषज्ञों ने एचडीएफसी बैंक के महत्वाकांक्षी विकास अनुमानों की सराहना की, जो केवल चार वर्षों की अवधि के भीतर आकार में दोगुना होने की क्षमता को उजागर करता है। मैक्वेरी ग्रुप लिमिटेड की ब्रोकरेज इकाई में भारत के लिए वित्तीय सेवा अनुसंधान के प्रमुख सुरेश गणपति वैश्विक स्तर पर ऐसी आकांक्षाओं की दुर्लभता पर जोर देते हैं। 18% से 20% की प्रत्याशित वृद्धि दर के साथ, एचडीएफसी बैंक आय वृद्धि के मामले में उत्कृष्ट दृश्यता का दावा करता है। इसके अतिरिक्त, बैंक अगले चार वर्षों के भीतर अपने शाखा नेटवर्क को दोगुना करने की योजना बना रहा है। इन रणनीतिक कदमों के साथ, एचडीएफसी बैंक बैंकिंग उद्योग के भविष्य को आकार देने के लिए तैयार एक दुर्जेय संस्थान बना हुआ है।

Find More News Related to Banking

RBI's Financial Stability Report Highlights Strong Performance of Indian Banking Sector_100.1

FAQs

HDFC का पूरा नाम क्या है?

HDFC का पूरा नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्प है।