Home   »   ग्रुप कैप्टन शालिजा धामी बनी वायुसेना...

ग्रुप कैप्टन शालिजा धामी बनी वायुसेना में लड़ाकू इकाई की पहली महिला कमांडर

ग्रुप कैप्टन शालिजा धामी बनी वायुसेना में लड़ाकू इकाई की पहली महिला कमांडर |_30.1

भारतीय वायु सेना (IAF) ने 8 मार्च 2023 को घोषणा की है कि ग्रुप कैप्टन शालिजा धामी पश्चिमी क्षेत्र में मिसाइल स्क्वाड्रन की कमान संभालेंगी। सुश्री धामी इस पर पहुँचने वाली प्रथम भारतीय महिला अधिकारी बन गई हैं। धामी को वर्ष 2003 में हेलीकॉप्टर पायलट के रूप में नियुक्त किया गया था। धामी को 2800 घंटे से अधिक उड़ान भरने का अनुभव है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

मुख्य बिंदु

 

  • धामी भारतीय सरकार द्वारा संचालित कई तलाश, बचाव और बाढ़ राहत जैसे अभियानों में शामिल हुई हैं।
  • वह क्वालीफाइड फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर हैं और पश्चिमी सेक्टर में हेलीकाप्टर यूनिट की फ्लाइट कमांडर भी रह चुकी हैं।
  • वह वर्तमान में एक अग्रिम कमान मुख्यालय की आपरेशंस ब्रांच में पदस्थ हैं।
  • धामी भारतीय सेना की फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स के कैप्टन शिवा चौहान के बाद दूसरी तैनाती है। शिवा चौहान वर्तमान में सियाचिन में ऑपरेशनल रूप से तैनात होने वाली पहली महिला अधिकारी हैं।
  • वहीँ एक अन्य उपलब्धि में मेजर अभिलाषा बराक प्रशिक्षण पूरा करने के बाद कॉम्बैट एविएटर के रूप में आर्मी एविएशन कॉर्प्स में शामिल होने वाली पहली महिला अधिकारी बनी हैं।

Find More Appointments Here

 

ग्रुप कैप्टन शालिजा धामी बनी वायुसेना में लड़ाकू इकाई की पहली महिला कमांडर |_40.1

FAQs

वायु सेना का कार्य क्या है?

वायुसेना एक राष्ट्र की सैन्य संगठन की एक शाखा होती है जिसका मुख्य कार्य उस देश की वायु सुरक्षा, वायु चौकसी एव जरूरत होने पर वायु युद्ध करना होता है। इस सेन्य संगठन की संरचना थलसेना, नौसेना या अन्य शाखाओं से अलग और स्वतंत्र होती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *