Home   »   आदिवासी युवाओं को कुशल बनाने के...

आदिवासी युवाओं को कुशल बनाने के लिए ‘गोल’ कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

आदिवासी युवाओं को कुशल बनाने के लिए 'गोल' कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ |_30.1
केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा द्वारा डिजिटल प्रणाली के माध्यम से आदिवासी युवाओं को मेंटरशिप प्रदान करने के लिए “GOAL (Going Online As Leaders)” कार्यक्रम शुरू किया गया है। “गोल (गोइंग ऑनलाइन ऐज लीडर्स)” कार्यक्रम जनजातीय कार्य मंत्रालय के साथ शुरू की गई फेसबुक इंडिया की संयुक्त पहल है।
गोल कार्यक्रम का उद्देश्य डिजिटल मोड के माध्यम से आदिवासी युवाओं को सलाह प्रदान करना है और आदिवासी युवाओं की छिपी प्रतिभाओं की खोज करने के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करना है। इससे आदिवासी युवाओं का व्यक्तिगत विकास होगा और उनके समाज के विकास उत्थान में भी योगदान देगा।
कार्यक्रम के वर्तमान चरण में 5,000 आदिवासी युवाओं को सशक्त बनाने का लक्ष्य रखा गया है, ताकि डिजिटल प्लेटफार्मों की पूरी क्षमता के साथ-साथ व्यापार करने के नए तरीकों को समझने, तलाशने और घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों से जुड़ने के लिए साधन मिल सकें। कार्यक्रम में 2 मेंटीज के लिए 1 मेंटर होगा, जिसका उद्देश्य दूरस्थ क्षेत्रों में अनुसूचित जनजाति (एसटी) युवाओं को अपने प्रतिपालकों के साथ अपनी आकांक्षाओं, सपनों और प्रतिभाओं को साझा करने के लिए डिजिटल प्लेटफार्मों का उपयोग करने में सक्षम बनाना है
उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए
महत्वपूर्ण तथ्य-
  • फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी: मार्क जुकरबर्ग.
  • फेसबुक मुख्यालय: कैलिफोर्निया, अमेरिका.

TOPICS:

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *