Home   »   GAIL (इंडिया) लिमिटेड ने चालू किया...

GAIL (इंडिया) लिमिटेड ने चालू किया भारत का पहला ग्रीन हाइड्रोजन प्लांट

GAIL (इंडिया) लिमिटेड ने चालू किया भारत का पहला ग्रीन हाइड्रोजन प्लांट_3.1
FILE PHOTO: Gail India Ltd?s logo is seen at Gastech 2023 in Singapore September 7, 2023. REUTERS/Florence Tan/File Photo

मध्य प्रदेश के विजयपुर में GAIL (इंडिया) लिमिटेड का पहला ग्रीन हाइड्रोजन प्लांट चालू हो गया है, जो देश की सबसे बड़ी नेचुरल गैस ट्रांसमिशन और डिस्ट्रिब्यूशन फर्म के लिए नई और वैकल्पिक ऊर्जा में एक बड़ा कदम है।

सरकारी मान्यता और समर्थन

उद्घाटन समारोह में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सचिव पंकज जैन की उपस्थिति थी, जो इस अग्रणी पहल के लिए सरकार के समर्थन और मान्यता को दर्शाता है।

संयंत्र विनिर्देश और क्षमता

यह अभिनव ग्रीन हाइड्रोजन प्लांट 4.3 टन प्रति दिन (टीपीडी) हाइड्रोजन का उत्पादन करने की क्षमता का दावा करता है। यह 10 मेगावाट (MW) PEM (प्रोटॉन एक्सचेंज मेम्ब्रेन) इलेक्ट्रोलाइज़र इकाइयों के उपयोग के माध्यम से इसे प्राप्त करता है, जो अक्षय ऊर्जा स्रोतों द्वारा संचालित पानी के इलेक्ट्रोलिसिस की प्रक्रिया का उपयोग करते हैं।

प्रारंभिक अनुप्रयोग और आंतरिक खपत

प्रारंभ में, इस सुविधा द्वारा उत्पन्न हाइड्रोजन मौजूदा विजयपुर संयंत्र में विभिन्न प्रक्रियाओं और उपकरणों के भीतर आंतरिक खपत के लिए प्राकृतिक गैस के साथ ईंधन के रूप में काम करेगा।

अक्षय ऊर्जा एकीकरण और सौर अवसंरचना

10 मेगावाट पीईएम इलेक्ट्रोलाइजर की हरित ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए, गेल सक्रिय रूप से विजयपुर में लगभग 20 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित कर रहा है । इसमें ग्राउंड-माउंटेड और फ्लोटिंग सोलर यूनिट दोनों शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, गेल खुली पहुंच के माध्यम से अक्षय ऊर्जा का दोहन कर रहा है, जिससे सतत ऊर्जा समाधानों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को और बढ़ाया जा रहा है।

भविष्य के सहयोगात्मक प्रयास और सतत समाधान

अपने दूरदर्शी दृष्टिकोण को प्रदर्शित करते हुए, गेल इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड और आईआईटी कानपुर के साथ सहयोगात्मक अध्ययन शुरू कर रहा है ताकि प्राकृतिक गैस के साथ हाइड्रोजन मिश्रण की संभावनाओं का पता लगाया जा सके । यह पहल भविष्य के लिए सतत ऊर्जा समाधानों की खोज और कार्यान्वयन के लिए गेल के समर्पण को रेखांकित करती है ।

भारत के पहले हरित हाइड्रोजन संयंत्र को चालू करके, गेल ने नवीकरणीय ऊर्जा को अपनाने और अपने कार्बन फुटप्रिंट को कम करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। यह पहल न केवल ऊर्जा आत्मनिर्भरता प्राप्त करने के देश के लक्ष्य के अनुरूप है बल्कि पर्यावरणीय स्थिरता और नवाचार के लिए गेल की प्रतिबद्धता को भी प्रदर्शित करती है ।

स्टेटिक जीके:

  • गेल का मुख्यालय: नई दिल्ली;
  • गेल की स्थापना: 1984।

GAIL (इंडिया) लिमिटेड ने चालू किया भारत का पहला ग्रीन हाइड्रोजन प्लांट_4.1

FAQs

गेल की स्थापना कब हुई थी ?

गेल की स्थापना 1984 में हुई थी।

TOPICS: