Home   »   देश का विदेशी मुद्रा भंडार 2.54...

देश का विदेशी मुद्रा भंडार 2.54 अरब डॉलर बढ़कर 597.93 अरब डॉलर पर

देश का विदेशी मुद्रा भंडार 2.54 अरब डॉलर बढ़कर 597.93 अरब डॉलर पर |_30.1

देश का विदेशी मुद्रा भंडार 24 नवंबर को समाप्त सप्ताह में 2.54 अरब डॉलर बढ़कर 597.93 अरब डॉलर हो गया। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने यह जानकारी दी। इससे पिछले सप्ताह देश का कुल मुद्रा भंडार 5.07 अरब डॉलर बढ़कर 595.39 अरब डॉलर हो गया था। रिजर्व बैंक के साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार, 24 नवंबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार का अहम हिस्सा विदेशी मुद्रा आस्तियां (foreign currency assets) 2.14 अरब डॉलर बढ़कर 528.53 अरब डॉलर हो गया।

देश का विदेशी मुद्रा भंडार अक्टूबर, 2021 में 645 अरब डॉलर के सर्वकालिक उच्चतम स्तर पर पहुंचा था। लेकिन पिछले साल वैश्विक घटनाक्रम से पैदा हुए दबाव के बीच आरबीआई ने रुपये की विनिमय दर में गिरावट को रोकने के लिए इस पूंजी भंडार का उपयोग किया था जिससे विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आई।

डॉलर में अभिव्यक्त की जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियों में यूरो, पाउंड और येन जैसी गैर-अमेरिकी मुद्राओं में घट-बढ़ के प्रभावों को भी शामिल किया जाता है। गोल्ड कलेक्शन का मूल्य 29.6 करोड़ डॉलर बढ़कर 46.34 अरब डॉलर हो गया। आंकड़ों के अनुसार, विशेष आहरण अधिकार (SDR) 8.7 करोड़ डॉलर बढ़कर 18.22 अरब डॉलर हो गया। आलोच्य सप्ताह में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के पास रखा देश का मुद्रा भंडार 1.4 करोड़ डॉलर बढ़कर 4.85 अरब डॉलर हो गया।

 

परीक्षा से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

Q: भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने भंडार में वृद्धि में कैसे योगदान दिया?

उत्तर: आरबीआई ने रणनीतिक रूप से ऋण बाजार में विदेशी प्रवाह को अवशोषित करने, रुपये के स्तर को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने और विदेशी मुद्रा भंडार में समग्र वृद्धि में योगदान देकर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Q: पोर्टफोलियो प्रवाह के अलावा, किस अतिरिक्त कारक ने भंडार में वृद्धि में योगदान दिया?

उत्तर: सोने के भंडार में भी उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई, जो 296 मिलियन डॉलर बढ़कर 46.3 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया। यह वृद्धि समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान वैश्विक सर्राफा कीमतों में तेज वृद्धि से प्रभावित थी।

Q: आरबीआई की प्रबंधन रणनीति ने भारतीय रुपये पर कैसे प्रभाव डाला?

उत्तर: आरबीआई के सक्रिय प्रबंधन और विदेशी प्रवाह के अवशोषण ने भारतीय रुपये के लिए एक स्थिर कारक के रूप में काम किया, बावजूद इसके कि मुद्रा इसी अवधि के दौरान अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 83.40 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुई।

 

Find More News on Economy Here

देश का विदेशी मुद्रा भंडार 2.54 अरब डॉलर बढ़कर 597.93 अरब डॉलर पर |_40.1

FAQs

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कब मनाया जाता है?

हर वर्ष 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन होता है.