Home   »   वित्त मंत्री सीतारमण ने लॉकडाउन के...

वित्त मंत्री सीतारमण ने लॉकडाउन के दौरान मेगा आर्थिक राहत पैकेज का किया ऐलान

वित्त मंत्री सीतारमण ने लॉकडाउन के दौरान मेगा आर्थिक राहत पैकेज का किया ऐलान |_50.1
 
 



मीडिया को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री द्वारा की गई कुछ महत्वपूर्ण घोषणा हैं:-

  • कोरोना से निपटने में लगे विभिन्‍न वर्ग के लोगों के लिए तीन महीने के लिए 50 लाख रूपये का बीमा भी कराया जाएगा। इनमें चिकित्‍सक, पैरा मेडीकर्मी, स्‍वास्‍थ्यकर्मी, सफाई कर्मचारी और आशा कार्यकर्ता शामिल है।
  • प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत 8 करोड़ 69 लाख किसानों और अन्‍य लोगों को की पहली किस्त अप्रैल के पहले सप्‍ताह तक उनके खाते में 2 हजार रूपये जमा कर दिए जाएंगे।
  • महिला जन धन खाता धारकों को घर खर्च के लिए अगले 3 महीनों तक उनके खातों में 500 रुपये दिए जाएंगे। इससे 20 करोड़ महिलाओं को फायदा मिलने की उम्मीद है।
  • महिला उज्जवला योजना की लाभार्थियों को अगले 3 महीनों तक मुफ्त सिलेंडर दिया जाएगा। इससे 8.3 करोड़ बीपीएल परिवारों को फायदा मिलेगा।
  • दीन दयाल राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत महिला स्वयं सहायता समूहों को 10 लाख रुपये से 20 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा। इससे 63 लाख एसएचजी के माध्यम से 7 करोड़ महिलओं को लाभ मिलेगा।
  • राज्य सरकार को भवन और निर्माण करने वाले मजदूरों के लिए कल्याण निधि में मौजूद लगभग 31,000 करोड़ रुपये का उपयोग करने का निर्देश दिया गया है, जिससे उन लोगों की मदद की जा सके जो लॉकडाउन के कारण आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ रहा हैं।
  • जिला खनिज निधि के तहत उपलब्ध इस फंड का इस्तेमाल परीक्षण गतिविधियों, चिकित्सा जांच के लिए किया जाएगा, जिससे कोरोनोवायरस महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक स्वास्थ्य पर ध्यान दिया जा सके।
  • भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) लॉबी ग्रुप ने सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 1% या 2 लाख करोड़ रुपये का प्रोत्साहन के मांग की थी, सभी ऋणों पर तीन महीने की मोहलत मांगी है और कहा है कि इस अवधि के लिए सभी भुगतान दायित्वों को निलंबित कर दिया जाना चाहिए।

उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री और कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री: अनुराग सिंह ठाकुर.
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

TOPICS:

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *