Home   »   Fitch ने 6.3 प्रतिशत के विकास...

Fitch ने 6.3 प्रतिशत के विकास के अनुमानों को रखा बरकरार

Fitch ने 6.3 प्रतिशत के विकास के अनुमानों को रखा बरकरार_3.1

अमेरिकी रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग (Fitch Ratings) ने वित्त वर्ष 24 के भारत के ग्रोथ के अनुमानों को 6.3 प्रतिशत पर बरकरार रखा है। फिच ने कहा कि कड़ी मौद्रिक नीति और एक्सपोर्ट में कमजोरी के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था में लचीलापन दिख रहा है।

 

साल के अंत में मुद्रास्फीति बढ़ने के आसार

फिच ने कहा कि अल नीनो के खतरे के कारण साल के अंत में मुद्रास्फीति बढ़ सकती है। अभी हाल में पहली तिमाही के जीडीपी के आंकड़े जारी हुए थे जिसमें अप्रैल-जून तिमाही में भारत की जीडीपी 7.8 प्रतिशत पर रही थी। इसके अलावा फिच ने कहा कि अगले वित्त वर्ष यानी FY25 में विकास दर 6.5 प्रतिशत पर रहने का अनुमान लगाया है।

 

विकास की गति धीमी होने की संभावना

आपको बता दें कि दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए फिच ने विकास की गति धीमी होने की संभावना जताई है। फिच ने इसका कारण कमजोर निर्यात को बताया है। इसके अलावा, क्रेडिट ग्रोथ सपाट और उपभोक्ता आय और रोजगार की संभावनाएं भी कम रहने के आसार हैं।

 

मुद्रास्फीति में अस्थायी वृद्धि

मूल्य के मोर्चे पर, फिच ने कहा कि आने वाले महीनों में मुद्रास्फीति में अस्थायी वृद्धि, विशेष रूप से बढ़ती खाद्य मुद्रास्फीति, परिवारों के खर्च को और कम कर सकती है। वार्षिक सकल मुद्रास्फीति जुलाई में 7.4 प्रतिशत और जून में 4.9 प्रतिशत के बाद अगस्त में 6.8 प्रतिशत थी। फिच ने कहा कि खाद्य पदार्थों की ऊंची कीमतों के जोखिम के बावजूद, फिच ने इस कैलेंडर वर्ष के अंत के लिए आरबीआई के बेंचमार्क ब्याज दर के पूर्वानुमान को 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा है।

 

Find More News on Economy Here

Fitch ने 6.3 प्रतिशत के विकास के अनुमानों को रखा बरकरार_4.1

FAQs

मूडीज और फिच क्या हैं?

तीन बड़ी क्रेडिट रेटिंग एजेंसियां ​​एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स (एसएंडपी), मूडीज और फिच ग्रुप हैं। एसएंडपी और मूडीज अमेरिका में स्थित हैं, जबकि फिच का मुख्यालय न्यूयॉर्क शहर और लंदन में है, और इसका नियंत्रण हर्स्ट द्वारा किया जाता है।