Home   »   DRDO ने COVID-19 कीटाणुशोधन प्रक्रिया को...

DRDO ने COVID-19 कीटाणुशोधन प्रक्रिया को सक्षम बनाने के लिए लॉन्च किए नए उपकरण

DRDO ने COVID-19 कीटाणुशोधन प्रक्रिया को सक्षम बनाने के लिए लॉन्च किए नए उपकरण |_50.1
रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने COVID-19 डिसइन्फेक्शन (कीटाणुशोधन) प्रक्रिया को सक्षम बनाने के लिए दो नए उत्पाद लॉन्च किए है। इन नए उत्पादों में ऑटोमैटिक मिस्ट बेस्ड सैनटाइसर डिस्पेंसिंग यूनिट और यूवी सैनिटाइजेशन बॉक्स एवं हैंड-हेल्ड यूवी डिवाइस शामिल हैं। DRDO, COVID-19 से लड़ाई में अपना योगदान देने के लिए अपने मौजूदा शस्त्रागार से निरंतर समाधानों का विकास कर रहा है। 
ऑटोमैटिक मिस्ट आधारित सैनिटाइजर डिस्पैंसिंग यूनिट के बारे में:

ऑटोमैटिक मिस्ट बेस्ड सैनटिसर डिस्पेंसिंग यूनिट को दिल्ली के सेंटर फॉर फायर एक्सप्लोसिव एंड एनवायरमेंट सेफ्टी (CFEES) द्वारा विकसित किया गया है। यह जल संरक्षण के लिए विकसित की गई वॉटर मिस्ट ऐरेटर तकनीक पर आधारित है। ऑटोमैटिक मिस्ट बेस्ड सैनटिसर डिस्पेंसिंग यूनिट एक संपर्करहित सैनिटाइजर डिस्पैंसर तकनीक है जो भवनों/ कार्यालय परिसरों आदि में प्रवेश करने के दौरान हाथों के सैनिटाइजेशन के लिए अल्कोहल आधारित हैंड रब सैनिटाइजर सॉल्यूशंन का छिड़काव करता है। इसका इस्तेमाल ऑफिस बिल्डिंग, रिहायशी इलाकों, एयरपोर्ट, हॉस्पिटल, मॉल, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान में किया जा सकता है।
यूवी सैनिटाइजेशन बॉक्स एवं हैंड-हेल्ड यूवी डिवाइस के बारे में:

यूवी सेनिटेशन बॉक्स एंड हैंड-हेल्ड यूवी डिवाइस को डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ फिजियोलॉजी एंड अलाइड साइंसेज (डीआईपीएएस) और इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज (आईएनएमएएस), डीआरडीओ प्रयोगशालाओं द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है। यूवी सेनिटेशन बॉक्स का उपयोग व्यक्तिगत सामान जैसे मोबाइल फोन, टैबलेट, पर्स, मुद्रा, कार्यालय फाइलों के कवर आदि को कीटाणुरहित करने के लिए किया जाएगा, जबकि हैंड-हेल्ड डिवाइस का इस्तेमाल कार्यालय और घर की चीजों जैसे कुर्सियां, फाइलें, डाक वितरित वस्तुएं और खाने-पीने के पैकेटो कीटाणुरहित करने के लिए किया जाएगा। 

यूवी सेनिटेशन बॉक्स और हैंड-हेल्ड डिवाइस “पराबैंगनी सी लाइट” आधारित उपकरण हैं। “पराबैंगनी सी लाइट” COVID-19 के आनुवंशिक कणों को नष्ट करने में विशेष रूप से अच्छा माना गया है तथा ये वायरल कणों को फैलने से भी रोकता है।

उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के अध्यक्ष: जी सतीश रेड्डी
  • DRDO का मुख्यालय: नई दिल्ली.
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *