Home   »   रक्षा मंत्री ने ‘आईडेक्स इन्वेस्टर हब’...

रक्षा मंत्री ने ‘आईडेक्स इन्वेस्टर हब’ की शुरुआत की, 200 करोड़ रूपये से ज्यादा निवेश की प्रतिबद्धता

रक्षा मंत्री ने 'आईडेक्स इन्वेस्टर हब' की शुरुआत की, 200 करोड़ रूपये से ज्यादा निवेश की प्रतिबद्धता |_30.1

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘आईडेक्स इन्वेस्टर हब’ (आईआईएच) का उद्घाटन किया जिसके तहत भारतीय निवेशक 200 करोड़ रुपये से अधिक लगाने की घोषणा कर चुके हैं। राजनाथ सिंह ने यहां एयरो इंडिया 2023 के तहत आयोजित वार्षिक रक्षा नवोन्मेष समारोह ‘मंथन’ के दौरान ‘साइबर सुरक्षा’ पर ‘डिफेंस इंडिया स्टार्टअप चैलेंजिस (डिस्क 9)’ के नौवें संस्करण की भी शुरुआत की। ‘इनोवेशन फॉर डिफेंस एक्सिलेंस’ (आईडेक्स) रक्षा उत्पादन विभाग की महत्वाकांक्षी योजना है जिसमें रक्षा नवोन्मेष में शामिल स्टार्ट-अप और अन्य ऐसी इकाइयों को प्रोत्साहित किया जाता है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

‘आईडेक्स इन्वेस्टर हब’ का उद्देश्य रक्षा क्षेत्र में निवेश को बढ़ाना तथा निवेशकों के सामने अवसरों एवं नवाचारों का एकीकृत नजरिया पेश करना है। रक्षा उत्‍कृष्‍टता के लिए नवाचार (आईडीएक्‍स) रक्षा उत्‍पादन विभाग की अग्रणी पहल है, जिसका उद्देश्‍य रक्षा नवाचार में लगे स्‍टार्ट-अप और ऐसी अन्‍य संस्‍थाओं को प्रोत्‍साहित करना है। आईडीईएक्स इन्वेस्टर हब’ का उद्देश्य रक्षा क्षेत्र में निवेश में तेजी लाना और निवेशकों को अवसरों और नवाचारों के बारे में एक एकीकृत दृष्टिकोण देना है।

 

मुख्य बिंदु

 

  • डिस्क 9 गृह मंत्रालय के भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र (आई4सी) प्रभाग के साथ आईडीईएक्स का पहला सहयोग है।
  • इन चुनौतियों को सेवाओं, डीपीएससीओ और गृह मंत्रालय से क्यूरेट किया गया है, जो हमारे रक्षा उद्योग के बीच आईडीईएक्स के गहरे प्रभाव और दिलचस्पी को दिखाता है।
  • डिस्क 6, आईडेक्स प्राइम के पहले तीन संस्करणों तथा ओपन चैलेंज 5 और 6 के विजेताओं को भी सम्मानित किया गया। मिशन डेफस्पेस के अंतर्गत चुनौतियों के चरण-1 के विजेता की घोषणा की गई और उन्हें सम्मानित किया गया।
  • इनोवेटरों ने आईडीईएक्स-डीआईओ द्वारा समर्थित स्टार्टअप की एक प्रदर्शनी में ऑटोनोमस सिस्टम, एडवांस सेंसर, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और उद्योग 4.0 के क्षेत्र में भविष्य के प्रौद्योगिकी विकास का प्रदर्शन किया।
  • आईडेक्स इनवेस्टर हब का उद्देश्य रक्षा क्षेत्र में निवेश में तेजी लाना तथा निवेशकों को अवसरों और नवाचारों का एकीकृत दृष्टिकोण प्रदान करना है। रक्षा नवाचार संगठन (डीआईओ) ने मंथन में प्रमुख निवेशकों के साथ समझौता ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए।
  • एक्सिस बैंक के साथ एक और समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। डीआईओ ने रक्षा क्षेत्र को और अधिक मजबूत बनाने के लिए इसरो, इनस्पेस और आईएसपीए के साथ समझौता ज्ञापनों पर भी हस्ताक्षर किए हैं।
  • भविष्य में स्टार्टअप चुनौतियों को संभावित रूप से लॉन्च करने के लिए सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के साथ एक और समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इनोवेट 4 डिफेंस इंटर्नशिप (आई4डी) का चौथा संस्करण भी लॉन्च किया गया था, इसमें पूरे देश के विद्यार्थियों से आवेदन आमंत्रित किए गए थे।
  • रक्षा मंत्री ने स्वदेशी रक्षा अनुसंधान, डिजाइन, विकास और मैन्युफैक्चरिंग इको-सिस्टम के लिए भारतीय सेना के 110 प्रॉब्लम स्टेटमेंट का संग्रह भी जारी किया है।
  • प्रॉब्लम स्टेटमेंट आयुद्ध, निगरानी और अग्नि नियंत्रण प्रणालियों से लेकर आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉक चेन, मेटावर्स, रोबोटिक्स, क्वांटम टेक्नोलॉजी, साइबर, गोलाबारुद का स्मार्टिजेसन जैसे शीर्ष डोमेन तक विभिन्न डोमेन में भारतीय सेना की तकनीकी चुनौतियों और आवश्यकताओं को उजागर करते हैं।
  • इसके अतिरिक्त इनमें नई टेक्नोलॉजी को शामिल करना, वर्तमान प्रणालियों का उन्नयन करना तथा महत्वपूर्ण घटकों का स्वदेशीकरण भी शामिल है।
  • यह संग्रह स्वदेशी समाधानों के साथ-साथ भारतीय सेना के आधुनिकीकरण की दिशा में केंद्रीत प्रयासों को सक्षम बनाएगा, जिससे एक मजबूत और आत्मनिर्भर भारत का निर्माण होगा।
  • उद्योग और शिक्षाविदों को भारतीय सेना द्वारा आईडीईएक्स, टेक्नोलॉजी विकास कोष (टीडीएफ) और सेना प्रौद्योगिकी बोर्ड(एटीबी) सहित विभिन्न अनुसंधान और विकास मार्गों के माध्यम से सहायता दी जाएगी।

Find More Defence News Here

रक्षा मंत्री ने 'आईडेक्स इन्वेस्टर हब' की शुरुआत की, 200 करोड़ रूपये से ज्यादा निवेश की प्रतिबद्धता |_40.1

FAQs

भारत के पहले रक्षा मंत्री कौन थे?

बलदेव सिंह स्वतंत्र भारत के पहले रक्षा मंत्री थे.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *