Home   »   David Warner ने वर्ल्ड कप में...

David Warner ने वर्ल्ड कप में पूरे किए 1000 रन, तोड़ा सचिन तेंदुलकर का ये बड़ा रिकॉर्ड

David Warner ने वर्ल्ड कप में पूरे किए 1000 रन, तोड़ा सचिन तेंदुलकर का ये बड़ा रिकॉर्ड_3.1

ऑस्‍ट्रेलिया के अनुभवी ओपनर डेविड वॉर्नर ने भारत के खिलाफ वर्ल्‍ड कप 2023 के पांचवें मैच में एक खास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। चेन्‍नई के एमए चिदंबरम स्‍टेडियम में खेले जा रहे मुकाबले में वॉर्नर ने वर्ल्‍ड कप इतिहास में अपने 1,000 रन पूरे कर लिए हैं। डेविड वॉर्नर ने वर्ल्‍ड कप में खेलते हुए केवल 19 पारियों में 1,000 रन का आंकड़ा पार किया। इस तरह वॉर्नर वर्ल्‍ड कप इतिहास में सबसे तेज 1,000 रन पूरे करने वाले बल्‍लेबाज बन गए हैं। वॉर्नर ने इस दौरान भारत के महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर और दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्‍तान एबी डीविलियर्स जैसे दिग्‍गजों को पीछे छोड़ा।

बता दें कि वनडे वर्ल्‍ड कप में सबसे तेज 1000 रन पूरे करने के मामले में सचिन तेंदुलकर और एबी डीविलियर्स संयुक्‍त रूप से दूसरे स्‍थान पर हैं। इन दोनों दिग्‍गज बल्‍लेबाजों ने वर्ल्‍ड कप की 20 पारियों में 1000 रन का आंकड़ा पार किया था। सौरव गांगुली और विव रिचर्ड्स संयुक्‍त रूप से तीसरे स्‍थान पर काबिज हैं। गांगुली और रिचर्ड्स ने 21 पारियों में 1000 रन का आंकड़ा पार किया था।

वनडे वर्ल्‍ड कप में सबसे कम पारियों में 1000 रन बनाने वाले बल्‍लेबाज

19- डेविड वॉर्नर

20 – सचिन तेंदुलकर/ एबी डीविलियर्स

21 – विव रिचर्ड्स / सौरव गांगुली

22 – मार्क वॉ/ हर्शेल गिब्‍स।

 

डेविड वॉर्नर की बड़ी उपलब्धि

डेविड वॉर्नर ने अपने नाम एक और खास उपलब्धि दर्ज कराई। वनडे वर्ल्‍ड कप में वॉर्नर 1000 रन का आंकड़ा पार करने वाले चौथे ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाज बने। वॉर्नर के अलावा रिकी पोंटिंग, एडम गिलक्रिस्‍ट और मार्क वॉ ही वनडे वर्ल्‍ड कप में 1000 रन का आंकड़ा पार करने में कामयाब हुए हैं।

 

वनडे वर्ल्‍ड कप में सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाज

1743 – रिकी पोंटिंग

1085 – एडम गिलक्रिस्‍ट

1004 – मार्क वॉ

1001* – डेविड वॉर्नर*

987 – मैथ्‍यू हेडन

 

 

Find More Sports News Here

Asian Games 2023 Medals Tally: Final medal table_110.1

FAQs

वर्ल्ड कप कितने साल में एक बार होता है?

इस खेल का आयोजन खेल शासी निकाय, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा हर चार साल में किया जाता है, जिसमें प्रारंभिक योग्यता के दौर में फ़ाइनल टूर्नामेंट तक होता है।