Home   »   दुनिया को कट, कॉपी और पेस्ट...

दुनिया को कट, कॉपी और पेस्ट की सौगात देने वाले कंप्यूटर साइंटिस्ट लैरी टेस्लर का निधन

दुनिया को कट, कॉपी और पेस्ट की सौगात देने वाले कंप्यूटर साइंटिस्ट लैरी टेस्लर का निधन |_50.1
कंप्यूटर में कट, कॉपी और पेस्ट की कमांड देने वाले कंप्यूटर साइंटिस्ट लैरी टेस्लर का निधन। कंप्यूटर की कई कमांड की खोज करने वाले वैज्ञानिक का जन्म न्यू यॉर्क के ब्रोंक्स में 1945 में हुआ था और कंप्यूटर के शुरुआती दौर 1960 के दशक में उन्होंने कंप्यूटर को अधिक सुविधा जनक और आसान बनाने के लक्ष्य साथ काम करना शुरू किया।
टेस्लर ने साल 1973 में, ज़ेरॉक्स के पालो ऑल्टो रिसर्च सेंटर (PARC) को ज्वाइन किया, जहां उन्होंने कट, कॉपी और पेस्ट कमांड की खोज की थी। ये कमांड टेक्स्ट एडिटर और शुरुआती कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम के विकास में काफी अहम थीं।
  • यह मैक और विंडोज पर कॉपी और पेस्ट करने की एक कमांड है
  • Google Chrome ने जल्द ही एक डिवाइस से कॉपी किए टेक्स्ट को दूसरे पर पेस्ट करने की सुविधा दी

हालाँकि PARC में ही कट, कॉपी और पेस्ट की खोज की गई, लेकिन ये अनुसंधान केंद्र ग्राफिकल यूजर इंटरफेस पर अपने शुरुआती काम के लिए भी खासा लोकप्रिय था और यहीं से Apple के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स ने माउस का इस्तेमाल अपने उत्पादों करने का आईडिया लिया । उस समय टेस्लर ज़ेरॉक्स में जॉब्स के कई दौरों का भी हिस्सा थे।

टेस्लर ने दुनिया भर की बड़ी कंपनियों के लिए काम किया जिसमें Apple, Amazon और Yahoo शामिल हैं। उन्होंने Apple में काम से करने से पहले फोटोकॉपी कंपनी ज़ेरॉक्स के पालो ऑल्टो रिसर्च सेंटर (Parc), सिलिकॉन वैली में अपने  कैरियर की शुरुआत की थी। उन्होंने 17 साल तक ऐप्पल में काम किया और वहां के मुख्य वैज्ञानिक बन गए थे। उन्हें यूजर इंटरफेस डिजाइन में विशेषज्ञता प्राप्त थी और वह उन्होंने सहयोगी टिम मॉट के साथ Parc सेंटर में कट और पेस्ट कमांड का इजाद करने के लिए सबसे ज्यादा लोकप्रियता हासिल की थी। टेस्लर की कट, कॉपी, पेस्ट कमांड तब ज्यादा प्रसिद्ध हुई जब इसे साल 1983 में एप्पल के सॉफ्टवेयर में लिसा कंप्यूटर पर शामिल किया गया।

TOPICS:

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *