Home   »   BRICS समूह का विस्तार: सऊदी अरब,...

BRICS समूह का विस्तार: सऊदी अरब, ईरान समेत 6 देश होंगे शामिल

BRICS समूह का विस्तार: सऊदी अरब, ईरान समेत 6 देश होंगे शामिल_3.1

ब्रिक्स में छह नए देश शामिल होंगे। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने नए सदस्यों के शामिल होने का एलान किया। जिन सदस्यों को शामिल किया जाएगा, उनमें मिस्र, सऊदी अरब, यूएई, इथियोपिया, अर्जेंटीना और ईरान शामिल हैं। ये सभी जनवरी 2024 से आधिकारिक सदस्य होंगे। इससे संगठन को और मजबूती मिलेगी। आपको बता दें कि फिलहाल पीएम नरेंद्र मोदी ब्रिक्स समिट में हिस्सा लेने के लिए दक्षिण अफ्रीका में हैं।

ब्रिक्स द्वारा छह देशों को अपने नए सदस्य के तौर पर शामिल करने के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि समूह का आधुनिकीकरण और विस्तार यह संदेश है कि सभी वैश्विक संस्थानों को बदलते दौर में खुद को बदलने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि हम समूह के नए सदस्य देशों के साथ काम करके ब्रिक्स को नई गतिशीलता दे पाएंगे। जोहान्सबर्ग में 15वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा ब्रिक्स के विस्तार का समर्थन किया है। भारत का मानना रहा है कि नए सदस्यों को जोड़ने से ब्रिक्स एक संगठन के रूप में मजबूत होगा।

 

छह देशों को किया आमंत्रित

ब्रिक्स देशों के समूह ने छह देशों अर्जेंटीना, मिस्र, ईरान, इथियोपिया, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात को ब्लॉक का नया सदस्य बनने के लिए आमंत्रित करने का निर्णय लिया है।

 

BRICS में कौन-कौन देश शामिल हैं?

BRICS में पांच देश शामिल हैं। इन्हीं के नाम के पहले अक्षर को मिलाकर ब्रिक्स का निर्माण हुआ है। ब्रिक्स में B का मतबल ब्राजील, R का मतब रूस, I का भारत, C का मतबल चीन और S का दक्षिण अफ्रीका से है। ब्रिक्स दुनिया की पांच सबसे तेज गति से उभरती अर्थव्यवस्था वाले देशों का समूह है। साल 2009 में पहला ब्रिक सम्मेलन रूस के येकतेरिनबर्ग में हुआ था। साल 2010 में दक्षिण अफ्रीका भी ब्रिक का हिस्सा बन गया था। इसके बाद इसका नाम ब्रिक्स हो गया था। ब्रिक्स आर्थिक सहयोग, पीपल-टू-पीपल एक्सचेंज, राजनीतिक और सुरक्षा सहयोग, सहयोग तंत्र जैसे क्षेत्रों में सहयोग करता है।

 

 Find More International News Here

BRICS समूह का विस्तार: सऊदी अरब, ईरान समेत 6 देश होंगे शामिल_4.1

 

FAQs

ब्रिक्स क्या है और इसके उद्देश्य?

ब्रिक्स (ब्राजील ,रूस, इंडिया , चीन और साउथ अफ्रीका) के नामों के पहले अक्षरों मिलाकर लिखा संक्षिप्त रूप है । यह एक इन देशों का संयुक्त संगठन है जिसका उद्देश्य आपसी आर्थिक विकास की गतिविधियों को गतिशीलता प्रदान करना एवं ग़रीबी उन्मूलन कार्यक्रम के लिए कार्य करना है।