Home   »   भारत इलेक्ट्रॉनिक्स ने एयरबोर्न डिफेंस सूट...

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स ने एयरबोर्न डिफेंस सूट की आपूर्ति के लिए बेलारूसी कंपनी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

 भारत इलेक्ट्रॉनिक्स ने एयरबोर्न डिफेंस सूट की आपूर्ति के लिए बेलारूसी कंपनी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए |_30.1

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (Bharat Electronics Limited (BEL)) ने डिफेन्स इनिशिएटिव (Defense Initiatives (DI)), बेलारूस और डिफेन्स इनिशिएटिवल एयरो प्राइवेट लिमिटेड, भारत (डीआई बेलारूस की सहायक कंपनी) के साथ एक समझौता ज्ञापन (Memorandum of Understanding (MoU)) पर हस्ताक्षर किए हैं। भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टरों के लिए एयरबोर्न डिफेंस सूट (Airborne Defense Suite (ADS) की आपूर्ति के लिए तीन कंपनियों के बीच सहयोग बनाने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

डाउनलोड करें मई 2022 के महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स प्रश्नोत्तर की PDF, Download Free PDF in Hindi


हिन्दू रिव्यू मई 2022, डाउनलोड करें मंथली करेंट अफेयर PDF (Download Hindu Monthly Current Affair PDF in Hindi)



Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

हेलीकॉप्टरों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए ADS का उपयोग किया जाता है। बीईएल प्रमुख ठेकेदार होगा और ‘मेक इन इंडिया’ श्रेणी के तहत हेलीकॉप्टरों के लिए उन्नत इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर (Electronic Warfare (EW)) सुइट्स की आपूर्ति के लिए विनिर्माण और रखरखाव के साथ डीआई द्वारा समर्थित होगा। MoU का उद्देश्य ADS के लिए भारत और वैश्विक बाजारों के लिए विभिन्न व्यावसायिक अवसरों का पता लगाना है। रक्षा उत्पादन विभाग के अतिरिक्त सचिव संजय जाजू और सैन्य सहयोग पर भारत बेलारूसी संयुक्त आयोग (Indo Belarusian Joint Commission (IBJC)) के मार्गदर्शन में साझेदारी विकसित हुई है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड की स्थापना: 1954;
  • भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड मुख्यालय: बेंगलुरु;
  • भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक: आनंदी रामलिंगम;
  • भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक: विनय कुमार कात्याल।

Find More News Related to Agreements

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स ने एयरबोर्न डिफेंस सूट की आपूर्ति के लिए बेलारूसी कंपनी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए |_40.1

TOPICS:

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *