Home   »   बेंगलुरु में अद्भुत सौरीय घटना: शून्य...

बेंगलुरु में अद्भुत सौरीय घटना: शून्य छाया दिवस

बेंगलुरु में अद्भुत सौरीय घटना: शून्य छाया दिवस |_30.1

मंगलवार, 25 अप्रैल को भारत के तकनीकी हब बेंगलुरु अद्भुत खगोलीय घटना “जीरो शैडो डे” का साक्षी बनने वाला है। इस घटना के दौरान, सूर्य की स्थिति सीधे ऊपर के तट पर होने के कारण शहर में कोई भी लंबवत वस्तु छाया नहीं डालेगी। यह घटना लगभग 12:17 अपराह्न के आसपास होने की उम्मीद है और इसकी अवधि थोड़ी सी होगी। भारतीय तंत्रज्ञान समाज (एएसआई) ने इस घटना का अध्ययन करने के लिए बेंगलुरु के कोरमंगला में स्थित भारतीय खगोल विज्ञान संस्थान (आईआईए) में व्यवस्था की है, जबकि शहर के नागरिक भी इसे देखने के लिए तैयार हैं।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

शून्य छाया दिवस क्या है:

जीरो शैडो डे एक दुर्लभ और अनोखी घटना है जो पृथ्वी के विभिन्न स्थानों पर विभिन्न समयों पर होती है। इस दौरान धरती पर किसी भी लंबवत वस्तु का कोई छाया नहीं पड़ती है क्योंकि सूर्य की स्थिति सीधे ऊपर होती है। सामान्य रूप से, सूर्य की स्थिति उत्तर या दक्षिण की ओर थोड़ी झुकी होती है और सीधे ऊपर नहीं होती है। भारतीय खगोल विज्ञान संस्थान (IIA) ने बेंगलुरु के कोरमांगला में इस घटना का अनुभव करने के लिए व्यवस्था की है, जबकि शहर के नागरिक भी इसे देखने के लिए तैयार हैं।

जीरो शैडो डे साल में दो बार होता है जो की कर्क रेखा और मकर रेखा के बीच के स्थानों में शामिल होते हैं, जैसे कि बेंगलुरु में। बेंगलुरु में यह 25 अप्रैल और 18 अगस्त को होगा।

बेंगलुरु में अद्भुत सौरीय घटना: शून्य छाया दिवस |_40.1

FAQs

बेंगलुरु किस राज्य की राजधानी है ?

बेंगलुरु कर्नाटक राज्य की राजधानी है।