Home   »   सुखोई लड़ाकू विमान उड़ाने वाली भारत...

सुखोई लड़ाकू विमान उड़ाने वाली भारत की पहली महिला पायलट बनी अवनी चतुर्वेदी

सुखोई लड़ाकू विमान उड़ाने वाली भारत की पहली महिला पायलट बनी अवनी चतुर्वेदी |_50.1

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) की महिला फाइटर पायलट पहली बार देश के बाहर होने वाले हवाई युद्धाभ्यास के लिए भारतीय दल का हिस्सा होंगी। स्क्वाड्रन लीडर अवनी चतुर्वेदी (Sqn Leader Avni Chaturvedi) जो एक महिला फाइटर पायलट हैं और Su-30MKI उड़ाती हैं, वह विदेश में एक अंतर्राष्ट्रीय वॉरगेम में शामिल होंगी। युद्धाभ्यास में भारतीय वायुसेना की महिला पायलट अवनी चतुर्वेदी भी शामिल होंगी और इतिहास रचेंगी। विदेशी धरती पर होने वाले किसी भी हवाई युद्धाभ्यास में भाग लेने वाली अवनी चुतुर्वेदी देशी की पहली महिला पायलट होंगी।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

स्क्वॉड्रन लीडर अवनी चतुर्वेदी सुखोई-30 की पायलट हैं और जोधपुर से जाने वाले दल में शामिल हैं। वैसे तो देश की दो महिला लड़ाकू पायलट ने फ्रांसीसी वायुसेना सहित कई देशों की सेना के साथ युद्धाभ्यास किया है। किसी महिला वायु सैनिक के लिए विदेश जाकर युद्धाभ्यास करने का ये मौका पहली बार है। ये युद्धाभ्यास जापान के हयाकुरी हवाई अड्डे पर आयोजित किया जा रहा है। वायु सेना सहित भारत आने वाली विदेशी टुकड़ियों के साथ युद्धाभ्यास में भाग लेती रही हैं।

 

सुखोई-30 की पायलट हैं अवनि

स्क्वॉड्रन लीडर अवनी चतुर्वेदी सुखोई-30 की पायलट हैं और जोधपुर से जाने वाले दल में शामिल हैं। वैसे तो देश की दो महिला लड़ाकू पायलट ने फ्रांसीसी वायुसेना सहित कई देशों की सेना के साथ युद्धाभ्यास किया है, लेकिन किसी महिला वायु सैनिक के लिए विदेश जाकर युद्धाभ्यास करने का ये मौका पहली बार है।

 

मिग 21 उड़ा चुकी हैं अवनी चतुर्वेदी

स्क्वाड्रन लीडर अवनी चतुर्वेदी फाइटर प्लेन सुखोई 30MKI की पायलट हैं। अवनी भावना कांत और मोहना सिंह के साथ साल 2016 (जुलाई) में फ्लाइंग ऑफिसर बनी थीं। उन्होंने 2018 में मिग-21 भी उड़ाया था।

 

मध्यप्रदेश की अवनि ने राजस्थान में की पढ़ाई

अवनि मध्यप्रदेश के शहडोल जिले की रहने वाली हैं। उन्होंने कंप्यूटर साइंस विषय में इंजीनियरिंग की पढ़ाई वनस्थली विश्वविद्यालय राजस्थान से किया था। इसके बाद उन्होंने भारतीय वायु सेना की परीक्षा पास की और 2016 में फ्लाइंग ऑफिसर बनीं।

सुखोई लड़ाकू विमान उड़ाने वाली भारत की पहली महिला पायलट बनी अवनी चतुर्वेदी |_60.1

FAQs

भारतीय वायु सेना का गठन कब हुआ था?

8 अक्टूबर 1932

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *