Home   »   ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग ने...

ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की

ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की |_30.1

ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लेनिंग ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। ऑस्‍ट्रेलिया की कप्‍तान मेग लेनिंग ने 31 साल की उम्र में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्‍यास लेकर क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया है। मेग लेनिंग ने 2010 में अंतरराष्‍ट्रीय डेब्‍यू किया और 241 मैचों में ऑस्‍ट्रेलिया का प्रतिनिधित्‍व किया।

मेग लेनिंग ने संन्‍यास का फैसला लेते समय अपनी टीम के साथियों और फैंस का शुक्रिया अदा किया। लेनिंग ने आखिरी बार फरवरी में दक्षिण अफ्रीका में टी20 वर्ल्‍ड कप में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का प्रतिनिधित्‍व किया था। फिर उन्‍होंने स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से खेल से छह महीने का ब्रेक लिया था।

 

18 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के लिए डेब्यू किया

लेनिंग ने सिर्फ 18 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के लिए टी-20 इंटरनेशनल में डेब्यू किया था। साल 2010 में उन्होंने पहला इंटरनेशनल मैच खेला था। वो अपने 13 साल लंबे करियर में 6 टेस्ट, 103 वनडे और 132 टी-20 मैच खेली हैं। इन तीनों फॉर्मेट में उन्होंने 8000 से ज्यादा रन बनाए हैं।

 

लेनिंग की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया

लेनिंग ने 78 वनडे में ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी की है। जिसमें टीम को 69 मैचों में जीत मिली है। वहीं उनकी कप्तानी में 100 टी-20 इंटरनेशनल में 76 मैच में ऑस्ट्रेलिया को जीत मिली है। उनकी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने चार टेस्ट खेले और चारों जीते हैं।

 

फ्रेंचाइजी क्रिकेट में खेलती रहेंगी

मेग लेनिंग ने बेशक इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। हलांकि वह फ्रेंचाइजी लगी खेलती रहेंगी। लैनिंग महिला बिग बैश लीद और महिला प्रीमियर लीग की स्टार खिलाड़ी हैं। भारत में होने वाली WPL में लनिंग दिल्ली कैपिटल्स की कप्तान हैं।वहीं महिला बिग बैश लीग में लैनिंग मेलबर्न स्टार्स की कप्तान हैं।

 

Find More Sports News Here

ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की |_40.1

FAQs

भारत के पहले वनडे क्रिकेट कप्तान कौन थे?

भारतीय क्रिकेट टीम के पहले ODI कप्तान अजीत वाडेकर थे, जो 1974 में कप्तान बने और कप्तान के रूप में सिर्फ 2 मैच खेले।