Home   »   अडानी डिफेंस और EDGE ग्रुप के...

अडानी डिफेंस और EDGE ग्रुप के बीच हुआ समझौता, रक्षा और सुरक्षा में बढ़ेगा सहयोग

अडानी डिफेंस और EDGE ग्रुप के बीच हुआ समझौता, रक्षा और सुरक्षा में बढ़ेगा सहयोग |_3.1

अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस ने संयुक्त अरब अमीरात स्थित एज ग्रुप के साथ एक रणनीतिक सहयोग समझौते की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य उनकी रक्षा और एयरोस्पेस क्षमताओं को एकीकृत करना है। यह साझेदारी वैश्विक और क्षेत्रीय रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए उनके संयुक्त उत्पाद पोर्टफोलियो का लाभ उठाएगी, भारत और यूएई के बीच प्रौद्योगिकी और द्विपक्षीय सहयोग में प्रगति पर जोर देगी।

उत्पाद पोर्टफोलियो एकीकरण

यह समझौता उनके संबंधित उत्पाद क्षेत्रों को समन्वित करने पर ध्यान केंद्रित करता है, जिसमें मिसाइल, हथियार, मानव रहित प्रणाली, वायु रक्षा समाधान, इलेक्ट्रॉनिक युद्ध, और साइबर तकनीक शामिल हैं। इस सहयोग के माध्यम से सैन्य क्षमताओं को मजबूती देने और वैश्विक रक्षा उद्योग में नए मानक स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है।

अनुसंधान और विकास का विस्तार

इसके तहत भारत और यूएई में संयुक्त अनुसंधान और विकास संस्थानों की स्थापना शामिल है, जो रक्षा प्रौद्योगिकियों में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए होंगे। ये संस्थान उन्हें उन्नत रक्षा और एयरोस्पेस समाधानों के विकास, उत्पादन और रखरखाव में समर्थन प्रदान करेंगे, जो केवल घरेलू बाजारों को ही नहीं, बल्कि दक्षिणपूर्व एशिया और उससे भी आगे के अंतरराष्ट्रीय बाजारों को लक्ष्य बनाएंगे।

रणनीतिक महत्व

इस साझेदारी के माध्यम से दोनों कंपनियाँ यूएई-भारत सैन्य संबंधों को मजबूत करने का लक्ष्य रखती हैं, जिसमें वैश्विक रक्षा समाधानों में नवाचार प्रदर्शित करने का समर्थन किया गया है। इस सहयोग से एक साझी दृष्टिकोण को प्रकट किया गया है जो सैन्य उपकरण में मानकों को ऊँचाई पर पहुँचाने और नई तकनीकों की प्रारंभिक करने की दिशा में काम कर रहा है।

अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस और एज ग्रुप के बीच साझेदारी वैश्विक निर्यात क्षमता और स्वदेशी तकनीकी क्षमताओं का लाभ उठाते हुए रक्षा प्रौद्योगिकी में नए प्रगति के लिए तैयार है। यह पहल राष्ट्रीय रक्षा क्षमताओं को बढ़ाने और अंतरराष्ट्रीय रक्षा परिदृश्य में एक नेता के रूप में स्थान बनाने की दिशा में एक रणनीतिक कदम को दर्शाती है।

अडानी डिफेंस और EDGE ग्रुप के बीच हुआ समझौता, रक्षा और सुरक्षा में बढ़ेगा सहयोग |_4.1

FAQs

"मानसून: ए पोयम ऑफ लव एंड लांगिंग" नामक पुस्तक किसकी है ?

"मानसून: ए पोयम ऑफ लव एंड लांगिंग" पुस्तक भारतीय कवि-राजदूत अभय कुमार की है।

TOPICS: