Home   »   विश्व बैंक ने भारत की पहली...

विश्व बैंक ने भारत की पहली जलमार्ग परियोजना के लिए $ 375-मिलियन के ऋण को मंजूरी दी

विश्व बैंक ने भारत की पहली जलमार्ग परियोजना के लिए $ 375-मिलियन के ऋण को मंजूरी दी |_20.1

विश्व बैंक ने वाराणसी और हल्दिया के बंदरगाह के बीच गंगा नदी पर 1,360 किमी-लम्बाई कार्गो लॉजिस्टिक्स और परिवहन में हजारों नौकरियां लाने के लिए भारत के पहले अंतर्देशीय जल परिवहन फेयरवे राष्ट्रीय जलमार्ग 1 (NW 1) परियोजना के लिए $ 375 मिलियन  के  ऋण को मंजूरी दे दी है.

नेशनल वाटरवे 1 (जल मार्ग विकास) परियोजना की क्षमता का विस्तार कार्बन को जीवाश्म ईंधन उपभोक्ता को सड़क और रेल नेटवर्क से दूर कर ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 150,000 टन से अधिक CO2 के बराबर को बचाने में मदद करेगा.

उपरोक्त समाचार से परीक्षा उपयोगी तथ्य:

    • विश्व बैंक ने राष्ट्रीय जलमार्ग (NW1) के लिए $ 375 मिलियन ऋण को स्वीकृत किया है
    • NW1 परियोजना वाराणसी और हल्दिया के बीच गंगा नदी के 1,360 किलोमीटर के क्षेत्र में एक जल परिवहन के लिए  है
    • हल्दिया बंदरगाह पश्चिम बंगाल में स्थित है
    • विश्व बैंक के CEO क्रिस्टलीना जॉर्जेवा हैं और इसका मुख्यालय वाशिंगटन, डी.सी., यू.एस.ए. में स्थित है
    • विश्व बैंक की स्थापना 1944 में  हुई थी
     If you have any other takeaways, do share with us in the comment section
    स्रोत- बिजनेस स्टैंडर्ड

    TOPICS:

    Leave a comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *