Thursday, 30 September 2021

आरबीआई ने इंडियन ओवरसीज बैंक को त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई ढांचे से हटाया

आरबीआई ने इंडियन ओवरसीज बैंक को त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई ढांचे से हटाया

 


भारतीय रिजर्व बैंक ने इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank - IOB) पर त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (Prompt Corrective Action - PCA) प्रतिबंध हटाने की घोषणा की है। यह निर्णय बैंक को ऋण देने के लिए अधिक स्वतंत्रता देता है, विशेष रूप से निगमों और निर्धारित मानदंडों के अधीन नेटवर्क को विकसित करने के लिए। IOB को 2015 में PCA के तहत रखा गया था।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

IBPS RRB क्लर्क मेन्स और SBI क्लर्क मेन्स 2021 परीक्षाओं के लिए करेंट अफेयर्स GA पॉवर कैप्सूल: Download PDF

बैंक ने एक लिखित प्रतिबद्धता प्रदान की है कि वह निरंतर आधार पर न्यूनतम नियामक पूंजी, शुद्ध एनपीए और उत्तोलन अनुपात के मानदंडों का पालन करेगा और आरबीआई को संरचनात्मक और प्रणालीगत सुधारों से अवगत कराया है जो बैंक की प्रतिबद्धताओं को जारी करने में मदद करेंगे। IOB को निजीकरण के उम्मीदवार के रूप में देखा जा रहा है। 2021 में, आरबीआई ने आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) और यूको बैंक (UCO Bank) पर पीसीए (PCA) प्रतिबंध भी हटा दिया है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • इंडियन ओवरसीज बैंक मुख्यालय: चेन्नई;
  • इंडियन ओवरसीज बैंक के सीईओ: पार्थ प्रतिम सेनगुप्ता (Partha Pratim Sengupta);
  • इंडियन ओवरसीज बैंक की स्थापना: 10 फरवरी 1939।

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search